Wednesday, August 17, 2022
HomeEVnewsइलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान | electric vehicle ke nuksan

इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान | electric vehicle ke nuksan

electric vehicle ke nuksan | disadvantages of electric vehicles in india | electric vehicles ke nuksan kya hai| इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान 

electric vehicle ke nuksan:- इलेक्ट्रिक व्हीकल को भारत में पिछले कुछ समय से काफी पसंद किया जा रहा है। और भारत सरकार भी इसे काफी प्रमोट कर रही है देखा जा रहा है की इलेक्ट्रिक व्हीकल की खरीद में भी इजाफा हुआ है। लेकिन अभी तक भी ये व्हीकल उतने आम नहीं हुए है जितने पारम्परिक पेट्रोल या फिर डीजल के वाहन है। इसके लिए कई कारण और दोष है जिन्हें आज हम आपके सामने लाएँगें। आप जानेगें की इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे तो है लेकिन कुछ नुक्सान भी है। तो आज आपको हम बताने जा रहे है इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान के बारे में।

लेकिन मेरा ऐसा मानना है की ये इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान केवल अभी के लिए ही है क्योंकि ये इलेक्ट्रिक व्हीकल अभी भारत में उतने ज्यादा उपलब्ध नहीं है और अभी ये बस शुरुवाती पड़ाव पर ही है जैसे जैसे इलेक्ट्रिक व्हीकल का विकास होते जाएगा ये इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान भी शून्य होते जाएंगें। तो यदि आपको केवल इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे पता है तो अब इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान भी जान लो।

 

इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान

 

  • ज्यादा कीमत 
  • कम विकल्प 
  • चार्जिंग स्टेशन की कमी
  • लम्बा चार्जिंग टाइम
  • कम रेंज
  • कम पॉवर
  • कम विश्वसनीयता

तो चलिए एक एक कर जानते है की electric vehicle ke nuksan क्या है और disadvantages of electric vehicles in india को हमें किस नजरिए से देखना चाहिए।

 कीमत (Price):-

किसी भी चीज की कीमत बहुत मायने रखती है। और आज के समय में Electric Car या इलेक्ट्रिक गाड़ियों का सबसे बड़ा Nuksan है इसकी ज्यादा कीमत। यदि आप कोई पेट्रोल गाड़ी लेते है जो 5 लाख में आपको मिलती है वही सेम फीचर्स वाली इलेक्ट्रिक कार आपको लगभग ढाई गुना ज्यादा कीमत में मिलती है। इस समस्या का निदान होना बहुत जरूरी है यदि इलेक्ट्रिक व्हीकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों की पहुंच में लाना है तो। लेकिन यह अभी वर्तमान में संभव होते नहीं दिक्खता है। अभी इसमें काफी समय लगने वाला है। उम्मीद है जल्द ही हमे काम दामों पर भी इलेक्ट्रिक वेहिकल उपलब्ध होंगें।

 

ज्यादा विकल्प नहीं:-

देखिए इस बात से कोई इंकार नहीं कर रहा है की इलेक्ट्रिक करो को लोगों द्वारा पसंद किया और खरीदा भी जा रहा है लेकिन यह आंकड़ा बहुत काम है। ज्यादातर शहर के लोगों द्वारा यह वाहन लिए जा रहे है। लेकिन इतने बड़े देश में यह कुछ भी नहीं है जब आप दुनिया के सबसे ज्यादा युवा आबादी वाले देश के रूप में जाने जाते हों। इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान में एक मुख्या चीज ज्यादा विकल्पों का उपलब्ध न होना भी है।

यदि आप अभी मार्केट में एक पेट्रोल या डीजल से चलने वाले वाहन खरीदने जाएं तो आपको कई सारे विकल्प और कई अलग अलग मॉडल और कंपनियों की कारें, बाइके, और स्कूटी मिल जाएंगीं लेकिन इलेक्ट्रिक वर्ज़न में अभी ऐसा नहीं है। आपको कुछ ही विकल्प मिलते है। तो यह भी अभी के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान में से एक है।

 

 चार्जिंग स्टेशन की कमी:-

भारत का इंफ्रास्टक्चर अभी इतना मजबूत नहीं है की इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को चार्ज करने की अभी की इस समस्या को सुलझा सके। इंडिया में अभी चार्जिंग स्टेशन न के बराबर है। अभी इस ओर काफी काम करना बाकि है। सरकार इस और काम कर रही है लेकिन अभी इसमें लम्बा समय और ज्यादा पैसा लगेगा। यदि आप कम दूरी का सफर करते है तो इलेक्ट्रिक वेहिकल आपके लिए बढ़िया है लेकिन जब बात लम्बी दूरी की हो तो चार्जिंग स्टेशन की कमी एक मुख्य समस्या में से एक है।

 

लम्बा चार्जिंग टाइम:-
लम्बा चार्जिंग टाइम भी इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान में एक मुख्या भूमिका निभाता है। कितना भी फ़ास्ट चार्ज कर लो यह कम से कम 30 से 60 मिनट तो लेगा ही। और यदि आप पेट्रोल पम्प में अपनी पेट्रोल वेहिकल में पेट्रोल भरवाते है तो उसमे ज्यादा से ज्यादा 1 मिनट लगता है। तो अभी ले लिए तो मुझे इलेक्ट्रिक वेहिकल में यह ज्यादा बड़ी समस्या लग रही है। क्योंकि यदि आपके पास पर्याप्त मात्रा में चार्जिंग स्टेशन भी हो गए तब भी आपको अपने वाहन को चार्ज करने में अपना काफी समय देना होगा।

कम रेंज:-

Electric Car Ke Nuksan में इनका कम रेंज भी है। लम्बा चार्जिंग टाइम के साथ काम रेंज भी लोगों को सोचने पर मजबूर कर देता है की इन्हें खरीदें या नहीं। अब सभी लोग केवल कम दूरी का सफर तो नहीं करते कुछ लॉन्ग ड्राइव के भी सौकीन होते है उन जैसे लोगों के लिए कम रेंज एक बहुत बड़ा नुक्सान है। हाँ माना की कई कंपनियन जैसे MG ZS EV 461 km की रेंज दे रही है लेकिन यह अभी के लिए पर्याप्त नहीं है क्योंकि चार्जिंग स्टेसनों की कमी यह एक मुख्या भूमिका निभाती है।

 

 कम पॉवर:-
काइनेटिक एनर्जी से प्राप्त पावर बैटरी से मिलने वाली इलेक्ट्रिक एनर्जी से काफी ज्यादा होती है। क्योंकि इलेक्ट्रिक वाहन बैटरी से ऊर्जा प्राप्त करते है तो उनमे पेट्रोल गाड़ियों जितना पावर नहीं होता है। लेकिन पिकअप की बात करें तो इलेक्ट्रिक करों जितना पिकअप किसी में भी नहीं होता है।

 

कम विश्वसनीयता:-

विश्वसनीयता में कमी भी इन वाहनों का एक बड़ा नुक्सान है। कई बार हमें देखा की इलेक्ट्रिक वाहन में आग लग गई है इस तरह की घटनाएँ लोगो के नाम में एक डर उत्पन कर देता है जिससे इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति लोगों में विश्वसनीयता काम हो जाती है। इलेक्ट्रिक वाहनों की बैटरी में आग क्यों लगती है? यह एक गंभीर विषय है इस पर ध्यान देना जरूरी है। 

ये तो थे कुछ मुख्य इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान लेकिन इनके आलावा भी कुछ थोड़े बहुत नुक्सान है जिन्हे हम आगे बाएंगें लेकिन अभी तक आपने हमारे इस आर्टिकल को पढ़ा और इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान को जाना लेकिन आप इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे भी जानना चाहते है तो पढ़ें इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे।

अब बात आगे की करते है तो अभी इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग करता उतने ज्यादा नहीं है क्योकि हमारे समाज में हम एक दुसरे को देख कर अपनी राय बनाते है तो इस मामले में लोग अभी अच्छे से समझ नहीं पाए है की ये इलेक्ट्रिक वाहन उनके लिए उपयोगी है या नहीं।

आगे बात करें तो इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग के लिए बिजली का यूज़ करते है जो आपके बिजली बिल को बढ़ा देता है। इसके आलावा इलेक्ट्रिक वाहनों का आवाज न करना भी कभी कभी नुकसान पहुंचा देता है। क्योंकि हमे अभी आदत है की पीछे से आते किसी वहां की आवाज सुनकर साइड में हो जाना लेकिन वहीं बात करें इलेक्ट्रिक वाहनों की तो इनमे से कोई आवाज तो अति नहीं है जब तक हम हॉर्न न बजा दे। इसका नुक्सान सबसे ज्यादा मोड़ और गली के नुक्कड़ पर ही होता है बिना आवाज के ये वाहन न जाने कब धमक जाते है पता ही नहीं चलताऔर ऐसे में टक्कर होने की संभावना बढ़ जाती है।

 

इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुकसान FAQ

हाँ आपको खरीदना चाहिए लेकिन उससे पहले कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें।
बिलकुल कर सकते है इसमें कोई दिक्कत नहीं होगी।
नहीं बिलकुल नहीं क्यों की यह वाहन बारिस और धुल से सुरक्छित होते है।
लगभग 1 से 2 रुपए के बीच यदि आप सही ढंग से यूज़ करते है तो।

 

निष्कर्ष

इस लेख में आपने इलेक्ट्रिक वाहन के नुकसान हिंदी में (Disadvantages of Electric Vehicles in india) पढ़ा। मुझे उम्मीद है आपको आपके सवाल electric vehicle ke nukaan का जवाब मिल गया होगा तो इसे शेयर जरूर करें। और यदि आप किसी इलेक्ट्रिक वेहिकल को खरीदने का मन बना रहे है तो हम आपको कहेंगें की जरूर खरीदें और यदि आप भारत की सबसे बढ़िया और सस्ती इलेक्ट्रिक करों के बारे में जानना चाहते है तो यह पढ़ें भारत की सबसे बढ़िया इलेक्ट्रिक करें।

तो ये तो था इलेक्ट्रिक व्हीकल के नुक्सान या अव गुण के बारे में जानकारी। क्या आपको इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदों के बारे में पता है। यदि आपको नहीं पता की इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे क्या क्या है? तो कोई बात नहीं आप यह पढ़ें इलेक्ट्रिक व्हीकल के फायदे।

यह भी पढ़ें

भारत का सबसे सस्ता  इलेक्ट्रिक स्कूटर

Hero Splendor Electric Bike कीमत और लॉन्च डेट?

जगुआर आई-पेस इलेक्ट्रिक

New TVs iQube electric scooter 2022

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular