Friday, December 9, 2022
HomeCareergnm course full details in hindi | gnm course details in hindi

gnm course full details in hindi | gnm course details in hindi

gnm course full details in hindi:- देश-दुनिया में जितना चिकित्सा का विकास हो रहा है उतने ही आए दिन हमे नये चुनौतियों का सामना भी करना पड़ रहा है। चिकित्सा क्षेत्र पर एक और जहा इलाज और प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा का भार पड़ रहा है, वही दुसरे ओर इस क्षेत्र में काम करने हेतु मानव संसाधन की भी अत्याधिक जरूरत विगत कई सालो से देखने को मिल रही हैं।

बात करे इस क्षेत्र में नये लोगो को शामिल करने की एवं नौकरी देने की तो इस से संबधित शिक्षा पात्रता के लिए आज के दौर में अनेक नये शिक्षाक्रम भी मौजूद हैं। जिन लोगो को स्वास्थ्य से संबधित क्षेत्र में भविष्य का निर्माण करना है, उन सभी के लिए ये लेख काफी खास होनेवाला हैं।क्योंकि यहा हम आपको नर्सिंग से जुड़े अत्यंत महत्वपूर्ण कोर्स जी.एन.एम् की जानकारी देनेवाले है जिसका सार्वजनिक एवं निजी अस्पतालों में बहुत ज्यादा महत्व है।

उसकी एकमात्र वजह ये है के इस कोर्स को करनेवाले छात्र चिकित्सा के क्षेत्र में एक अहम किरदार निभाते हैं, जिनकी बदौलत स्वास्थ्य की सेवा मुहैय्या कराना आसान हो जाता है।

यहाँ हम आपको इस कोर्स से जुडी सभी तरह की बुनियादी जानकारी देंगे, जिसमे आपको कोर्स से जुड़े सभी पहलुओ को जानने का मौका मिल पायेगा।

gnm full form- जी.एन.एम् का फुल फॉर्म 

gnm full form जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी (General Nursing and Midwifery) होता है, जो के एक डिप्लोमा स्तर का कोर्स होता है। चिकित्सा के क्षेत्र में इस कोर्स को पूरा करने वाले लोग मुख्य नर्स के असिस्टेंट के तौर पर या फिर नर्स स्टाफ का हिस्सा बनकर काम करते है।

gnm course full details in hindi

भारत में जहा ज्यादा जनसंख्या को सभी तरह की स्वास्थ्य संबंधी प्राथमिक सेवाए छोटे गावो से लेकर बड़े शहरो तक देने का दायित्व सार्वजनिक चिकित्सा क्षेत्र में होता है।

उस स्थिती में इन लोगो को अच्छे खासे रोजगार के विकल्प मौजूद रहते है। आगे हम जानेंगे इस कोर्स से जुडे सभी बुनियादी पहलुओ को जिससे इस कोर्स के बारेमें अधिक समझने में मदद मिलेगी।

जीएनएम कोर्स कितने साल का है

जैसा के आप को बताया गया है के ये एक डिप्लोमा स्तर का कोर्स है जिसकी कुल अवधी ३ साल ६ महीने का होता है। जिसमे आपको न्युनतम साढ़े तिन साल का वक़्त इस शिक्षाक्रम को देना अनिवार्य होता है।

आपके अधिकतर बार असफल होने का मतलब इस कोर्स की अवधी में बढोतरी होना होता है। इस प्रकार से साढे तिन साल के इस शिक्षाक्रम को पूरा करने हेतु आपको देशभर में अनेक महाविद्यालयो के विकल्प उपलब्ध हो जाते है।

इस साढ़े तिन साल के शिक्षाक्रम में ३ साल का शिक्षा सत्र रहता है, वही बादमे इसके छह माह का अनिवार्य इंटर्नशिप दिया गया होता है।

जीएनएम करने में कितना पैसा लगेगा?

आपको कुछ प्रमुख चिजो को समझना होगा के जिसके अनुसार इस शिक्षाक्रम का शुल्क तय होता है, जिसे हम प्रमुख घटक भी कह सकते है। निचे हमने ऐसेही कुछ प्रमुख घटकों का विवरण दिया हुआ है।

सबसे महत्वपूर्ण चिज यहा ये होती है के आप किस प्रकार के महाविद्यालय का चयन करते है, क्योंकि निजी महाविद्यालय की तुलना में आपको सार्वजनिक महाविद्यालय में शुल्क बहुत अंतर तक कम हो जाता है।

यहाँ पर अन्य प्रमुख चिज ये भी होती है के अगर आप अपने खुदके गाव या शहर से दूर अन्य जगह पर अगर इस कोर्स को पूरा करने हेतु अगर जा रहे है तो अन्य खर्च अतिरिक्त तौर पर इस शिक्षा शुल्क के साथ जुड़ जाते है।

इस प्रकार आपको सार्वजनिक महाविद्यालय में इस कोर्स हेतु लगभग एक लाख तक शुल्क लग सकता है। वही निजी महाविद्यालय में लगभग ढाई लाख तक के खर्च में आप इस कोर्स को पूरा कर सकते है।

ए एन एम नर्सिंग कोर्स क्या है? कि संपूर्ण जानकारी 

ACP officer kaise bane

CBI Officer कैसे बने?

bhms course details in hindi

जीएनएम कोर्स के liye योग्यता

यहाँ आप देखने वाले है के अगर इस शिक्षाक्रम हेतु आपको प्रवेश पाना है तो क्या पात्रता मापदंडो को आपको पूरा करना अनिवार्य होता है। निचे हमने विस्तार से इस मापदंड़ो को दिया है,जैसे के;

  • न्यूनतम बारवी कक्षा विज्ञान शाखा से उत्तीर्ण करना इस शिक्षाक्रम हेतु प्राथमिक पात्रता होती है, जिसमे कक्षा १२ वी जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान एवं रसायन विज्ञान आदि विषयों के साथ उत्तीर्ण की होनी चाहिए।
  • कक्षा १२ वी में आपके न्यूनतम औसतन अंक ५० प्रतिशत तक होने चाहिए।
  • इसके अलावा बात करे आयु सीमा की तो इस कोर्स में प्रवेश हेतु इच्छुक छात्र की न्यूनतम आयु १७ साल होनी चाहिए।
  • जैसा के कुछ मानक प्राप्त उच्च स्तर के शिक्षा संस्था या महाविद्यालय इस शिक्षाक्रम हेतु पात्रता परीक्षा के अंक की मांग करते है, पर सभी जगह इस तरह के पात्रता परीक्षा की अनिवार्यता नहीं होती।
  • उपरोक्त दिए गए मापदंडो को पूरा करने वाले छात्र अंतिमतः इस शिक्षाक्रम में प्रवेश के लिए पात्र समझे जाते है।

 

जीएनएम एडमिशन कैसे ले?

यहा आपको इस कोर्स के लिए सिधे तौर पर या तो फिर कुछ महाविद्यालय में पात्रता परीक्षा के आधार पर प्रवेश का प्रावधान दिया जाता है।इनसे जुडी कुछ बातो को हम विस्तार से समझायेंगे, जैसा के;

१. अगर आप सिधे तौर पर इस शिक्षाक्रम में प्रवेश पाना चाहते है तो आपको कक्षा बारवी विज्ञान धारा से पूरा करने के उपरांत, प्रवेश प्रक्रिया जैसे ही इस तरह के महविद्यालय में शुरू होती है तो आवेदन फॉर्म प्रस्तुत करना होता है।

जिसमे छात्रो के अंको के आधार पर मेरिट लिस्ट संबंधित महाविद्यालय में या फिर महाविद्यालय के आधिकारिक साईट पर जारी की जाती है। इस तरह अच्छे अंको से १२ वी कक्षा उत्तीर्ण छात्रो को प्रधानक्रम दिया हुआ रहता, जिन्हें अपने सुविधा या पसंद अनुसार माहविद्यालय चयन करने का मौका मिल जाता है।

वही जिन छात्रो को कम अंक होते है या किसी कारणवश दाखिला नहीं मिल पाता या तो उन्हें प्रतीक्षा सूचि में रखा जाता है या फिर अन्य महाविद्यालय के विकल्प खोजने पड़ते है।

२. जिन छात्रो को कुछ विशिष्ट मानक प्राप्त या उच्च स्तर की शिक्षा देनेवाले संस्था या महाविद्यालय में प्रवेश लेना होता है।तो इस स्थिती में कुछ महाविद्यालय या संस्था पात्रता परीक्षा का प्रावधान रखते है हालाकि कुछ शिक्षा संस्थान में पात्रता परीक्षा अनिवार्य भी होती है।

तो पात्रता परीक्षा को छात्रो को यहा अच्छे अंको से उत्तीर्ण कर प्रवेश हेतु महविद्यालय में आवेदन करना होता है। जहा संबंधित महाविद्यालय में अच्छे अंको से पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण छात्रो की मेरिट लिस्ट के अनुसार प्रवेश तय किया जाता है।

इस प्रकार से इन दोनो विकल्प के माध्यम से हर साल देशभर में लाखो छात्र प्रवेश प्राप्त करते है, जिन्हें उज्वल भविष्य हेतु नर्सिंग के क्षेत्र से जुड़ा ज्ञान प्राप्त करने का मौका मिल जाता है।

gnm course syllabus in hindi

इस शिक्षाक्रम में तिन साल का शिक्षा सत्र होता है, जिसमें अंतर्निहित पाठ्यक्रम की निचे आपको विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है।

जी.एन.एम् कोर्स के प्रथम वर्ष का पाठ्यक्रम – GNM 1st Year Syllabus

विषय – Subject

  • एनाटोमी एंड फिजिओलॉजी
  • नुट्रीशन
  • कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग
  • सायको लॉजी
  •  माइक्रोबायोलॉजी
  • पर्सनल एंड एनवायर्नमेंटल हायजिन
  • सोशियोलॉजी
  • हेल्थ एज्युकेशन
  • फंडामेंटल्स ऑफ़ नर्सिंग
  • पर्सनल हायजिन
  • फर्स्ट ऐड
  • एनवायर्नमेंटल हायजिन
  • हेल्थ एज्युकेशन एंड कम्युनिकेशन स्किल्स

 

जी.एन.एम् कोर्स के द्वितीय साल वर्ष का पाठ्यक्रम – GNM 2nd Year Syllabus

विषय – Subject

  • फार्माकोलॉजी
  • सायकॅट्रिक नर्सिंग
  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग -१
  • ऑर्थोपेडिक नर्सिंग
  • मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग-२
  • कम्युनिकेबल डिसिज
  • ओप्थाल्मिक नर्सिंग
  • कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग
  • मेंटल हेल्थ एंड सायकॅट्रिक नर्सिंग
  • कंप्यूटर एज्युकेशन

 

जी.एन.एम् कोर्स के तृतीय साल वर्ष का पाठ्यक्रम – GNM 3rd Year Syllabus

विषय – Subject

  • एडवांस्ड कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग
  • मिडवाइफरी एंड गायनाकोलॉजी
  • पेडीएट्रिक नर्सिंग
  • एजुकेशनल मेथड्स एंड मीडिया फॉर टीचिंग इन प्रैक्टिस ऑफ़ नर्सिंग
  • एडमिनिस्ट्रेशन एंड वार्ड मैनेजमेंट
  • कम्युनिटी हेल्थ नर्सिंग
  • प्रोफेशनल ट्रेंड्स एंड मैनेजमेंट
  • इंट्रोडक्शन तो रिसर्च
  • हेल्थ इकोनॉमिक्स
  • इंटर्नशिप पीरियड – ६ माह

इस प्रकार से जी.एन.एम् के शिक्षाक्रम में उपरोक्त विषय सम्मिलित होते है।

जी.एन.एम नर्सिंग प्रवेश पात्रता परीक्षा

भारत के लगभग १७ राज्यों में जी.एन.एम् में प्रवेश हेतु पात्रता परिक्षाए ली जाती है, जिसे उस विशिष्ट राज्य के नाम के साथ जी.एन.एम् परीक्षा इस तरह से संबोधन होता है उदाहरण के तौर पर जैसे के महाराष्ट्र जी.एन.एम् परीक्षा, राजस्थान जी.एन.एम् परीक्षा, गुजरात जी.एन.एम् परीक्षा इत्यादि…….

इसके अलावा कुछ प्रसिध्द जी.एन.एम् परीक्षाओ का ब्यौरा हम निचे संक्षिप्त में दे रहे है, जैसा के;

१. बी.एच.यु नर्सिंग एग्जाम

२. ए.आई.आई.एम्.एस नर्सिंग एग्जाम

३. इग्नो ओपननेट ( IGNOU OPENNET)

४. पी.जी.आई.एम्.इ.आर नर्सिंग, इत्यादि……….

GNM Nursing colleges

जैसा के इस शिक्षाक्रम से जुड़े माहविद्यालय एवं शिक्षा संस्था देशभर में मौजूद है ऐसेही कुछ शिक्षा संस्थानों की जानकारी हम यहाँ आपको दे रहे है।

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज – कोझीकोड

टी.डी मेडिकल कॉलेज – अलपुज्जा

गोकुल ग्लोबल यूनिवर्सिटी

सेंट जॉन मेडिकल कॉलेज – बंगलोर

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल – चंडीगढ़

सी.एम्.सी लुधियाना

सी.एम्.सी वेल्लोर

बांकुरा सम्मिलानी मेडिकल कॉलेज

एरा यूनिवर्सिटी

नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज – नागपुर

रामा यूनिवर्सिटी

एच.एम्.एल ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन्स

आई.आई.एम्.टी यूनिवर्सिटी

कर्नाटक स्कूल ऑफ़ नर्सिंग

पी.पी सावनी यूनिवर्सिटी

वी.जी स्कूल ऑफ़ नर्सिंग

समर्पण इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल साइंस

जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी

एस.आर.एम् कांचीपुरम चेन्नई

आसाम डाउन टाउन यूनिवर्सिटी

वाय.बी.एन यूनिवर्सिटी

सिंघानिया यूनिवर्सिटी

होलि स्पिरिट ऑफ़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग एज्युकेशन- मुंबई

सोफिया नर्सिंग कॉलेज

डी.वाय.पाटिल कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग – पुणे

वानलेस कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग

महाराष्ट्र इंस्टिट्यूट ऑफ़ नर्सिंग साइंस – लातूर

समर्थ नर्सिंग कॉलेज- रत्नागिरी

सावित्रीबाई फुले कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग – कोल्हापुर

गोदावरी कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग – जलगाँव

के.के वाघ कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग – नाशिक

श्री. शिवाजी एज्युकेशन सोसाइटी – अमरावती, इत्यादि………..

Gnm की सैलरी कितनी होती है,  रोजगार के अवसर 

इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप चिकित्सा के क्षेत्र में विभिन्न पदों पर कार्य कर सकते है, जिसके अनुसार आपको सैलरी दी जाती है ऐसेही कुछ पदों का ब्यौरा हम निचे दे रहे है।

होम नर्स

कम्युनिटी हेल्थ वर्कर

स्टाफ नर्स

हेल्थ विजिटर

आई.सी.यु नर्स

टिचर – नर्सिंग स्कुल

हेल्थ केयर नर्स, इत्यादि….

उपरोक्त दिए गए पदों के लिए निजी एवं सार्वजानिक दोनों भी क्षेत्र में रोजगार के अवसर होते है, जिनमे पद एवं क्षेत्र अनुसार सैलरी अथवा पे स्केल दिया जाता है। हालाकि इस पदों पर कार्यरत लोगो को लगभग सालाना २ लाख से लेकर सालाना ५ लाख तक का सैलरी दिया जाता है। जो के आगे चलके इसमें बढ़ोतरी भी हो जाती है।

इस प्रकार से जी.एन.एम् कोर्स से जुडी लगभग सभी प्रकार की जानकारी हमने आपको दी है, जिसमे सभी पहलुओ पर नजर डालने का हमने प्रयास किया।

आशा करते है के दी हुई जानकारी से आप काफी संतुष्ट हुए होगे ,तथा भाविष्य में आपको इस जानकारी लाभ होगा। हमसे जुड़े रहने के लिए बहुत धन्यवाद।…………

GNM Course F&Q

१. जी.एन.एम् का फुल फॉर्म क्या होता है?

जवाब: जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी।

२. अगर मुझे जी.एन.एम् शिक्षाक्रम में प्रवेश लेना हो तो, क्या पात्रता परीक्षा देना अनिवार्य है?

जवाब: नहीं, सभी जगह पर इस तरह के पात्रता परीक्षा को देना अनिवार्य नहीं होता।सिर्फ कुछ विशिष्ट महाविद्यालयों में इस तरह की पात्रता परिक्षाए ली जाती है।

३. जी.एन.एम् शिक्षाक्रम का अवधी क्या होता है?

जवाब: साढ़े तिन साल।

४. जी.एन.एम् कौनसे स्तर का शिक्षाक्रम होता है?

जवाब: डिप्लोमा स्तर का।

५. ए.एन.एम् और जी.एन.एम् में क्या अंतर होता है?

जवाब: ये दोनों भी डिप्लोमा कोर्सेस होते है पर इनके अवधी में बहुत अंतर होता है, वही ए.एन.एम् का अर्थ औक्सिलरी नर्सिंग मिडवाइफरी होता है।तो जी.एन.एम् का अर्थ जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी होता है।

६. क्या जी.एन.एम् कोर्स करने के बाद मुझे सार्वजनिक क्षेत्र में रोजगार मिल पायेगा?

जवाब: हा।

७. डिप्लोमा कोर्स जी.एन.एम् पूरा करने के बाद क्या सैलरी दी जाती है?

जवाब: लगभग सालाना २ लाख से लेकर ५ लाख तक शुरुवाती सैलरी दी जाती है।

८. शिक्षाक्रम जी.एन.एम् में प्रवेश हेतु शिक्षा संबंधी पात्रता क्या होती है?

जवाब: कक्षा १२ वी उत्तीर्ण करना अनिवार्य होता है।

९. जी.एन.एम् कोर्स के लिए प्रवेश लेना हो तो न्यूनतम आयु सीमा क्या तय की गई है?

जवाब: १७ साल।

१०. क्या जी.एन.एम् कोर्स के पश्चात् इंटर्नशिप करना अनिवार्य होता है?

जवाब: हा।

ए एन एम नर्सिंग कोर्स क्या है? कि संपूर्ण जानकारी 

ACP officer kaise bane

CBI Officer कैसे बने?

bhms course details in hindi

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: