Tuesday, December 6, 2022
Homehindilekhभाषण की शुरुआत कैसे करें | how to start a speech in...

भाषण की शुरुआत कैसे करें | how to start a speech in hindi

how to start a speech in hindi – भाषण की सुरुवात का तरीका हिंदी, बहुत अधिक लोगों तक अपनी बात पहुँचने के लिए सबसे प्रभावी तरीका भाषण को ही माना जाता है। अच्छे बोलने की कला होने के साथ साथ आपके पास शब्दों का कभी न ख़त्म होने वाला ऐसा भंडार होना चाहिए। सम्बोधन स्पीच इन हिंदी

जिसमे ऐसे शब्दों की भरमार हो जिनका अर्थ लोगों को आसानी से समझ आ सके। भाषण हिंदी में सुरुवात करते समय आपके शब्दों में लय और प्रभाव होना जरूरी है। कई ऐसे लोग है जिसके पास बोलने की अद्भुत क्षमता होती है, तथा वे किसी भाषण विषय पर एक बार बोलने की शुरुआत करते है तो फिर रूकने का नाम ही नहीं लेते है। भाषण हिंदी में देना कोई इतना भी कठिन नहीं है बस आपके पास माइक पर बोलने का तरीका होना चाहिए फिर देखिये bhashan in hindi आपके लिए कितना आसान हो जाता है। 

 भाषण देने का तरीका हिंदी में | How to start a speech in Hindi

भाषण की सुरुवात कैसे करें:- भाषण देते समय आपकी सुरुवात ही सबसे ज्यादा जरूरी होती है। भाषण की सुरुवात जितनी प्रभावी और व्यावहारिक होगी लोग उतने ज्यादा आपके भाषण को अहमियत देंगे और ध्यान से सुनेंगें। 

और ऐसा होना भी बेहद जरूरी है तभी आप अपने विचार अपने शब्दों के माध्यम से लोगों तक पहुंचा पाएंगें। यदि आपने पहले कभी भी भाषण नहीं दिया है। 

How to start a speech in Hindi

 

लेकिन अब ऐसा समय आ गया  है की आपको एक बढ़िया speech in hindi देना है और आपको नहीं पता की एक अच्छे और प्रभावी भाषण की सुरुवात कैसे करें तो यह आर्टिकल आप के लिए ही है। आइए जानते है how to start a speech, speech ki shuruaat kaise karen

यह भी पढ़ें:- 

मुखिया चुनाव भाषण

पब्लिक स्पिकिंग 

छात्रों के लिए भाषण विषय

 Speech starting lines in hindi | सम्बोधन स्पीच इन हिंदी

speech ki shuruaat kaise karen:- एक अच्छे भाषण की शुरुआत हमेशा अच्छे सम्बोधन के साथ की जाती हैं। 

सभी को नमस्कार के पश्चात हिन्दी में माननीय अतिथि महोदय सभा में उपस्थित सभी सदस्यों का हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन के साथ की जाती हैं। 

यदि आप अपने स्कूल के किसी कार्यक्रम में भाषण देने जा रहे है तो सम्बोधन के दौरान इन पक्तियों का भी उपयोग कर सकते है इससे आपका और आपके भाषण की शुरुवात का एक प्रभावी असर लोगों पर होगा। 

जैसे – “हमारे परम् आदरणीय अध्यक्ष महोदय, हम सभी के चहेते व समाज के लोकप्रिय माननीय मुख्य अतिथि जी, इस कार्यक्रम को विशिष्टता प्रदान कर रहे विशिष्ट अथिति जी व इस कार्यक्रम के महत्वपूर्ण अंग हमारे दर्शक गण”। (आप अपना भाषण अपने स्कूल या कॉलेज में दे रहे है और वहाँ आपके सहपाठी है तो ऐसे में आप दर्शक गण के स्थान पर सहपाठी भाईयों कहें। )

भाषण के संबोधन के साथ ही वक्ता को भाषण के विषय पर आ जाना चाहिए, सर्वप्रथम आयोजकों द्वारा उक्त विषय पर बोलने के लिए अवसर देने के लिए धन्यवाद ज्ञापित करना अथवा आज मैं इस विषय पर भाषण देने जा रहा हूँ।  

स्कूल कॉलेज के भाषण के मुख्य भाग की शुरुआत से इस उदहारण से की जा सकती है। 

आज आपके समक्ष अमुक विषय पर ( topic …..) अपने विचार व्यक्त करने के लिए यहां इस सभा में उपस्थित हुआ हूं कृप्या मेरे विचारों को सुने। 

इसके तुरंत बाद आपको भाषण की शुरुआत कर देनी चाहिए। भाषण की समाप्ति पर आप सब का धन्यवाद करता हूं, बोलने के बाद भाषण वक्ता अपने स्थान को ग्रहण करने के लिए चला जाता हैं। 

तो इस तरह आप अपने एक अच्छे भाषण(speech in hindi) की शुरुवात कर सकते हैं। 

 

अच्छे भाषण की कुछ विशेषताएं और सावधानियाँ। 

मंच पर बोलने से पहले वक्ता द्वारा बोलने वाले विषय पर भली प्रकार विचार करना चाहिए। भाषण के जरिए हम किसी भी प्रकार के  बैठक, संगोष्ठी या सम्मेलन में एकत्र होकर अपने शब्दों का आदान-प्रदान कर सकते है, अपनी बातों और भावनाओं को दूसरों के सामने व्यक्त करने का भाषण, एक सरतम तरीका है।  

एक अच्छा भाषण सुनना एक बहुत ही दिलचस्प अनुभव होता है। प्रत्येक व्यक्ति को बोलने में कौशल हासिल करने के लिए आवश्यक परिश्रम करना चाहिए, क्योंकि व्यक्ति अपनी बातों को अच्छी तरह से दूसरों के सामने व्यक्त कर सके |

भाषण को लिखित रूप से तैयार कर लिया जाना चाहिए। मंच पर आने से पूर्वअपनी वेशभूषा पर विशेष ध्यान दें, असभ्य व अव्यवस्थित रूप से मंच पर नहीं जाना चाहिए। 

स्पीकर की आवाज़ स्पष्ट होनी चाहिए | विचारों, भावनाओं और तर्कों को सीधे दिल से आना चाहिए ताकि दर्शक इसे आसानी से समझ सकें। इसे श्रोताओं के साथ पंजीकृत होना चाहिए और उनकी भावनाओं और विचारों के साथ कंपन करना चाहिए।

भाषण आरंभ करने से पहले अध्यक्ष अतिथियों व सौदागरों को संबोधित करने की औपचारिकताएं निभाई और अंत में धन्यवाद भी करना चाहिए। भाषा अत्यंत सरल प्रभावशाली सजीव और श्रोताओं के अनुरूप हो। 

आत्मविश्वास धैर्य व स्पष्टता के साथ उचित भाव मुद्राओं के माध्यम से अपनी बात प्रस्तुत करें। समय का ध्यान रखें निर्धारित समय में ही अपना भाषण समाप्त करें |

भाषण का अर्थ क्या है?

भाषण का शाब्दिक अर्थ व्याख्यान होता है। भाषण को अंग्रेजी में स्पीच कहते हैं जिसका अर्थ होता है अपनी बात को व्यक्त करना।

 

भाषण की परिभाषा क्या है ?

“एक व्यक्ति द्वारा अपने विचारों एवं भावनाओं को दूसरे व्यक्ति अथवा व्यक्तियों के समूह तक पहुंचाने की कला भाषण कहलाती है।”

“धाराप्रवाह रूप में अपने विचारों की अभिव्यक्ति ही भाषण है।”

“एक समूह के समक्ष अपने विचारों की मौखिक रूप में अभिव्यक्ति एक अच्छे भाषण की पहचान है।”

“एक व्यक्ति द्वारा अपने विचारों के अभिव्यक्ति में संस्कृति, भाषा का उतार-चढ़ाव, वाक शक्ति का प्रदर्शन भाषण कहलाता है।”

यह भी पढ़ें:- 

मुखिया चुनाव भाषण

पब्लिक स्पिकिंग 

छात्रों के लिए भाषण विषय

 

  राजनीतिक भाषण कैसे दे? 

 

[WPSM_AC id=981]

 

मुझे उम्मीद है, यह जानकारी how to start a speech in hindi आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। और भी जानकारी के लिए आप हमारी वेबसाइट को सब्स्क्राइब कर लें और विजिट करें। 

आपने हमें इतना समय दिया आपका बहुत धन्यवाद।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: