Monday, August 8, 2022
HomeHealthखजूर खाने के फायदे | khajur khane ke fayde

खजूर खाने के फायदे | khajur khane ke fayde

khajur khane ke fayde – फाइबर से भरपूर खजूर में स्वाद के साथ ही सेहत के भी कई राज छिपे हैं। खजूर का नाम लेते ही मुंह में मिठास-सी घुल जाती है। खजूर खाने में जितने मीठे होते हैं, उतने ही लाभकारी भी हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको खजूर खाने के कई ऐसे फायदों के बारे में बताएंगे, जो आपकी सेहत के साथ ही स्किन और बालों को भरपूर पोषण देंगे।

 

खजूर क्या है? 

यूं तो फ्रूट्स हर किसी को पंसद होते हैं, लेकिन बात जब खजूर की होती है, तो इसका प्राकृतिक मीठापन इसे और खास बनाता है। यही वजह है कि खजूर एक लोकप्रिय खाद्य पदार्थ है। खजूर को इंग्लिश में डेट्स तो अरबी में तवारीख और फ्रेंच में पामियर के नाम से जाना जाता है। खजूर को ताड़ यानी पाल्म ट्री की प्रजाति का माना गया है। इसका पेड़ काफी बड़ा होता है और पत्तियां भी करीब चार-छह मीटर लंबी होती हैं।

khajoor ke fayde

संस्कृत नाम:  खर्जुरम्

वैज्ञानिक नाम:  Phoenix Dactylifera

अंग्रेजी नाम:  Dates

आईये, ऐसे उपयोगी खजूर के बारे में जान लें।

खजूर का पेड़ 30-40 फीट तक बढ़ता है। इसका तना शाखाविहीन कठोर, गोलाकार और खुरदरा होता है। इसकी उपज रेगिस्तान में, कम पानी और गर्म मौसम की जगह में होती है। नारियल के समान इसके पेड़ के ऊपरी भाग में पत्तों के नीचे, गुच्छों में खजूर के फल लगते हैं। हरे कच्चे खजूर पकने के बाद भूरे तथा चिपचिपे होने लगते हैं। खजूर सूखने के बाद वह खारक या छुहारा कहलाती है।

# खजूर के घटक पदार्थ

  • नैचुरल शुगर – 85%
  • खनिज पदार्थ
  • विटामिन A, B और C
  • कैल्शियम
  • पोटॅशियम (प्रचुर मात्रा में)
  • प्रोटीन
  • फाइबर
  • आयरन
  • कॉपर
  • सोडियम (अल्प मात्रा में )
  • खजुर का ऊष्मांक मूल्य 144 तथा खारक का ऊष्मांक मूल्य 317 है।

आयुर्वेद के अनुसार खजूर मधुर,पौष्टिक,बलवर्धक,श्रमहारक, संतोष दिलाने वाला, पित्तनाशक, वीर्यवर्धक और शीतल गुणों वाला है। खजूर और खारक में विटामिन, प्रोटीन, रेशे, कार्बोहाइड्रेट और शर्करा होने की वजह से उसे पूर्ण आहार कहा जाता है। इसलिये उसे सभी उपवास में उपयोग में लाया जाता है। ताजे, हरे खजूर का रायता बनाया जाता है। खजूर की चटनी बनती है। केक और पुडींग में खजूर का उपयोग किया जाता है। खारक सूखे मेंवे का हिस्सा है। खजूर के पत्तों से घर का छप्पर, झाड़ू, ब्रश आदि बनाया जाता है। इसके तने इमारतों के आधार के तौर पर उपयोगी हैं। इसके रेशे रस्सियाँ बनाने के काम आते हैं।

 खजूर में पाये जाने वाले तत्व

  • विटामिन A से शरीर के अंग अच्छी तरह से विकसित होते हैं।
  • विटामिन B हृदय के लिये लाभदायी होता है। इससे दिल की मांसपेशियाँ मजबूत होती हैं। भूख बढ़ती है।
  • विटामिन C से शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है।
  • टी.बी.रोगियों की दुर्बलता दूर कर उसे बल प्रदान करता है।
  • खजूर धातुवर्धक तथा कफनाशक है।

 खजूर हमारी सेहत के लिए क्यों अच्छे हैं?

फल और मेवे दोनों तरह से खाए जाने वाला खजूर कई मायनों में फायदेमंद है। यह कैल्शियम, पोटैशियम, प्रोटीन, मैंगनीज, मैग्नीशियम, फास्फोरस, जिंक, विटामिन-बी6, ए और के से भरपूर होता है। इसके अलावा खजूर में कार्बोहाइड्रेट, आयरन, लाभदायक फैट्स, डायटरी फाइबर और फैटी एसिड्स होते हैं (9)। ये सभी पोषक तत्व हमारे शरीर को रोगों से बचाते हैं।
आइए, अब आपको बताते हैं कि खजूर के फायदे क्या-क्या होते हैं।

खजूर खाने के फायदे(khajur khane ke fayde)

1 .एनीमिया (खून की कमी) में रामबाण
खून में लौह की मात्रा कम हो जाने से थकान, घबराहट, दिल की धड़कन बढ़ना जैसी तकलीफ होती है। ऐसे में इक्कीस दिन लगातार 4-5 खजूर खाने चाहिये।
पुराने एनीमिया में, दिमाग को खून की आपूर्ति कम होती है। जिसके कारण भूल जाना, चक्कर आना, अवसाद आदि लक्षण पाये जाएँ , तो छः महीने तक आहार में 7-8 खजूर लें। इससे राहत मिलती है।
2. ह्रदय स्वास्थ्य
ह्रदय हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, इसलिए इसके स्वास्थ्य पर ध्यान देना जरूरी है। ह्रदय को बेहतर रखने के लिए आप दिनभर में मुट्ठीभर खजूर का सेवन कर सकते हैं। खजूर में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गुण आर्टरी सेल्स से कोलेस्ट्रॉल को हटाने में मदद करते हैं । धमनियों (आर्टरी) के सख्त होने व इसमें प्लाक भरने की अवस्था यानी एथेरोस्क्लेरोसिस को भी इससे रोका जा सकता है।
वजन बढ़ने से भी ह्रदय संबंधी रोग हो सकते हैं। ऐसे में खजूर का नियमित सेवन आपके वजन को नियंत्रण में रख सकता है, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। जब वजन नियंत्रित रहता है, तो आप कई तरह की बीमारियों से बचे रहते हैं।
3.गठिया के लिए एक उत्तम औषधि है खजूर
दुर्बलता में पैर दर्द तथा गठिया में, एक कप गरम दूध में एक चम्मच गाय का घी और एक चम्मच खजूर का पाउडर मिलाकर, गर्म ही पिलायें।
4.महिलाओं के पैर दर्द, कमर दर्द में आराम देता है |
ज्यादातर महिलाओं में पैर दर्द, कमर दर्द की शिकायत होती है। ऐसे में 5 खजूर आधा चम्मच मेंथी के साथ दो ग्लास पानी में, आधा होने तक उबालें। गुनगुना होने के बाद पिलायें। इस से राहत मिलती है।
5. हड्डी स्वास्थ्य |
खजूर मैग्नीशियम, सेलेनियम, कॉपर और मैंगनीज का अच्छा स्रोत है (9)। ये सभी पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत करने के साथ ही इनसे जुड़ी परेशानियों को दूर करने में भी मदद करते हैं। इसके अलावा, खजूर विटामिन-के से भी भरपूर होता है, जो खून को गाढ़ा करने और हड्डियों को मेटाबॉलाइज करने में मदद करता है। नॉर्थ डकोटा स्टेट यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, खजूर में बोरॉन भी होता है, ये एक ऐसा खनिज है, जो हड्डियों के लिए काफी फायदेमंद है।
6.कब्ज से छुटकारा मिलता है|
अगर सुबह पेट साफ ना होता हो, तो 5-6 खजूर रात में पानी में भिगोये। सुबह अच्छी तरह खजूर निचोड़कर वह पानी पिलायें । खजूर रेचक है। पेट साफ करता है।
7. ऊर्जा बढ़ाने वाला
स्वाद और प्राकृतिक गुणों से भरपूर खजूर आपको ऊर्जा भी देता है। खजूर के रोजाना सेवन से इसके सहायक पोषक तत्व आपको दिनभर थकान महसूस नहीं होने देते। खजूर खाने से दिनभर शरीर में ऊर्जा का संचार इसमें मौजूद पोषक तत्व फ्रूटोज और ग्लूकोज की वजह से होता है ।
8. अल्सर, एसिडिटी में राहत देता है खजूर
खजूर पाचन क्रिया को सुधारता है, जिससे अल्जैसर और एसिडिटी जैसी बीमारियाँ ठीक होने में मदद होती है।
9. यौन स्वास्थ्य
खजूर को यौन स्वास्थ्य के लिए भी काफी अच्छा माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि खजूर में पाए जाने वाले प्रोटीन में 23 तरह के एमिनो एसिड पाए जाते हैं , जो यौन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि यौन स्वास्थ्य ठीक करने में केवल प्राकृतिक तरीके से मिलने वाले एमिनो एसिड ही मदद करते हैं ।
एक भारतीय अध्ययन के अनुसार, खजूर का पराग भी यौन स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद करता है। इसे प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। खजूर के पराग का उपयोग यौन संबंधी समस्या दूर करने के लिए दवाओं में भी किया जाता है ।
10.मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली
पौष्टिक आहार ही आपके शरीर और प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्युनिटी सिस्टम) को मजबूत बनाए रखने का जरिया होते हैं। इसलिए, खाने में प्रोटीन, आयरन और अन्य विटामिन की मात्रा जरूरी है। प्रोटीन मांसपेशियों को मजबूती देने के साथ ही प्रतिरक्षा प्रणाली को भी प्रबल बनाता है। ऐसे में खजूर का सेवन करना काफी लाभदायक माना जाता है |
11. बवासीर से बचाव
कब्ज की समस्या होने पर बवासीर हो सकती है। जैसा कि इस लेख में हम पहले भी जिक्र कर चुके हैं कि खजूर में पर्याप्त फाइबर होता है। इसलिए, इसके सेवन से बवासीर की समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता है|
12. मांसपेशियों का विकास
खजूर को हाई कार्बोहाइड्रेट फल माना गया है, जिस कारण यह मांसपेशियों के विकास में मदद कर सकता है। इस लेख में हम पहले भी जिक्र कर चुके हैं कि खजूर में काफी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है, जो मांसपेशियों के विकास में काफी सहायक है।

खजूर का उपयोग |

इन चिपचिपे, मीठे खजूरों को आप कच्चा खा सकते हैं। इसके अलावा, इसे डेजर्ट बनाने के लिए भी उपयोग में लाया जा सकता है। साथ ही खजूर को निम्न प्रकार से भी खाया जा सकता है :

  • आप डेट्स को सेहतमंद स्नैक्स के रूप में ले सकते हैं। खजूर के बीज को हटाकर इसे आप स्नैक के लिए अखरोट, बादाम व काजू के साथ शामिल करें।
  • आप अपने नाश्ते में भी खजूर के कटे हुए कुछ टुकड़ों को मिला सकते हैं। इससे आपका ब्रेकफास्ट और पौष्टिक हो जाएगा।
    आप फ्रोजन वनिला दही के साथ खजूर को काटकर परोस सकते हैं।
  • आप सूखे हुए खजूर (छुहारे) को भिगोकर भी खा सकते हैं।
  • खजूर का जूस बनाकर भी लिया जा सकता है। इसमें मौजूद जीवाणुरोधी गुण आपको स्वस्थ रखने में मदद करेंगे। खजूर को छोटे टुकड़ें में काटकर थोड़ा पानी मिलाकर अच्छे से फेंट लें। आपका जूस तैयार है।
  • खजूर का इस्तेमाल मिल्क शेक में भी कर सकते हैं। आप एक गिलास ताजे ठंडे दूध में मुट्ठी भर कटे हुए खजूर मिलाकर अच्छे से फेंट लें। लीजिए तैयार है आपका मिल्क शेक। इसे सुबह और रात के समय पीना काफी फायदेमंद माना जाता है।

नोट : खजूर खाने के फायदे कई सारे होते हैं, इसलिए औषधीय गुणों से भरपूर खजूर आप कभी भी खा सकते हैं। आप एक दिन में चार से पांच खजूर खाए जा सकते हैं। इससे ज्यादा खाने पर डायरिया (दस्त) की समस्या हो सकती है।

खजूर के नुकसान | Side Effects of Dates in Hindi

खजूर के गुण जानने के साथ ही इसका ज्यादा सेवन करना कैसे हानिकारिक हो सकता है, यह जानना भी जरूरी है। खजूर के फायदे तो आप ऊपर जान ही चुके हैं, तो चलिए अब जानते हैं इसको अधिक मात्रा में खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं –

  • खजूर का अधिक सेवन आपके वजन को बढ़ा सकता है, क्योंकि 100 ग्राम खजूर में करीब 227 कैलोरी होती है।
  • खजूर ज्यादा खाने से हाइपरकलेमिया भी हो सकता है। ऐसा रक्त में पोटैशियम की मात्रा ज्यादा होने के कारण होता है और खजूर में पोटैशियम की मात्रा पर्याप्त होती है। हाइपरकलेमिया में मांसपेशियों में कमजोरी आने लगती है और कई बार लकवा (paralysis) भी हो सकता है। इसलिए, ज्यादा खजूर खाने से बचें ।
  • शिशुओं के लिए खजूर थोड़ा हानिकारक हो सकता है, क्योंकि यह काफी मोटा और सख्त होता है। शिशु की आंतें पूरी तरह से विकसित नहीं होती हैं, इसलिए वो खजूर को आसानी से पचा नहीं पाते हैं। यह उनके गले में भी अटक सकता है।
  • शरीर के लिए खजूर खाने के फायदे कई हैं, शायद इसी वजह से विश्व भर में इसे पसंद भी किया जाता है। इसमें मौजूद कई सारे पोषक तत्वों की वजह से इसे जीवनशैली का हिस्सा बनाना भी जरूरी है, लेकिन डेट्स खाते और खरीदते समय स्टाइलक्रेज के इस लेख में बताई गई बातों का ख्याल जरूर रखें।
 

आपको हमारा यह लेख कैसा लगा, हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में बताना न भूलें। किसी अन्य प्रकार के सुझाव व सवालों के लिए भी आप हमसे कमेंट बॉक्स के जरिए जुड़ सकते हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular