Wednesday, September 28, 2022
Homehindilekhलक्ष्य कैसे बनाएं | lakshya kaise banaye

लक्ष्य कैसे बनाएं | lakshya kaise banaye

lakshya kaise banaye, लक्ष्य  कैसे बनाएं ? इस विषय पर आप हो  बहुत सारी जानकारी मिल जाएगी। लेकिन आज मै जो जानकारी  बताने जा रहा हूँ वो  मुझे बहुत ही सरल और प्रभावी लगी। इस कारण मैं इस जाकारी को आप से साझा कर रहा हूँ। हो सकता है यह आप को अपने लक्ष्य  बनाने  में हेल्प करे।

इस लेख की ख़ास बात यह है कि इसे पढ़ने पर आपके मालूम चलेगा की, आप अपने लक्ष्य  बनाते समय किन – किन चीजों को सबसे पहले रखेंगें और क्यू रखेंगें। इस लेख में आपको यह भी मालूम चलेगा की आप अभी तक क्या ऐसी गलती करते रहें है। जिस कारण आपको अपने लक्ष्य प्राप्त में सफलता नहीं मिली।

lakshya kaise banaye

एक क्लास में एक टीचर ने कुछ चीजों के साथ प्रवेश किया।और उस class के सभी स्टूडेंट को संबोधित करते हुए बोला, की आज हम लाइफ के बारे मै कुछ बातें करेंगे और ऐसा बोलते हुए उन्होंने  टेबल पर एक बड़ा  खाली काँच  का जार, पत्थर के कुछ बड़े टुकड़े , कुछ कंकड़ और रेत का एक बॉक्स रख दिया।

इसके बाद टीचर ने खाली काँच के जार  में पत्थर के कुछ बड़े टुकड़े भरना शुरू किया और सरे जार को उन पत्थर के कुछ बड़े टुकड़े से ऊपर तक भर दिया। इसके बाद टीचर ने students से पूछा कि क्या जार भर गया है ? यह सुनकर सभी students ने कहा “हाँ” भर गया।

जवाब सुनकर टीचर ने कंकड़ अपने हाथ में लिए और काँच के उस जार में डालने लगे जो  पहले से पत्थर के कुछ बड़े टुकड़ों से भरा था , जार को थोडा हिलाने पर ये कंकड़ पत्थरों के बीच आसानी से जार में समा गए एक बार फिर उन्होंने छात्रों से पूछा कि क्या जार भर गया है? और सभी ने उत्तर दिया हाँ भर गया है।

तभी टीचर ने रेत का box निकाला और उसमे भरी सारी  रेत उस काँच के जार में डालने लगे जो पहले से ही पत्थर के बड़े टुकड़ों और कंकड़ से भरा हुआ था। उस रेत ने बची-कुची जगह भी भर दी, और एक बार फिर टीचर ने पूछा कि क्या जार भर गया है ? और सभी ने एक ही उत्तर दिया , हाँ।

lakshya kaise banaye – फिर टीचर ने समझाना शुरू किया, आप इस जार को अपना जीवन मान लीजिये। इस जार में भरे हुए बड़े पत्थर आप के जीवन की वह चीजें हैं ,जिनके बिना आप का जीवन अधूरा होता है। जैसे आपकी फैमिली ,आपकी हेल्थ आदि। इसके बाद ये जो कंकड़ है ये वो चीजें हैं जो यदि न भी रहें तो आपकी लाइफ को ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा।और ये रेत बाकी सभी छोटी-मोटी चीजों को दर्शाता है।

इस लिए यदि आप जार को पहले रेत से भर देंगे तो कंकडों और पत्थरों के लिए कोई जगह नहीं बचेगी। यही आपके जीवन के साथ होता है। अगर आप अपना सारा समय और उर्जा छोटी-छोटी चीजों  को पाने में लगा देंगे तो आपके पास कभी उन चीजों के लिए time नहीं होगा जो आपके लिए बहुत ही जरूरी हैं।

इस लिए आप अपने लाइफ के Goal Create करते समय जिस क्रम में जार को भरा गया है वही क्रम अपनाएँ ” बड़े पत्थर ” यानी  बहुत जरूरी चीजें ही पहले चुने और उनको पाने में अपनी ज्यादा ऊर्जा लगाएं। ताकि बाद में समय निकल जाने पर  आप को पछतावा न हो। सबसे पहले अपनी प्राथमिकताएँ निर्धारित करें बाकी सब रेत् के जैसे हैं।

मुझे उम्मीद है आपको यह जानकारी लक्ष्य कैसे बनाएं lakshya kaise banaye पसंद आई होगी। हमने आपके लिए विचारों की शक्ति और सकारात्मक कैसे बने पर भी पोस्ट लिखा है। आपको उनको भी पढ़ना चाहिए। सकारात्मक विचारों की शक्ति का उपयोग आप अपने बौद्धिक और मानषिक विकाश के लिए कर सकते है।

आपने हमे इतना समय दिया आपका बहुत धन्यवाद।

यह भी पढ़ें :-  

सफलता का रहस्य

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular