Wednesday, August 10, 2022
HomeCareermca course details in hindi | mca kya h

mca course details in hindi | mca kya h

mca course details in hindi:- शिक्षा के विभिन्न पायदानो से गुजरते हुये जीवन का सर्वांगीण विकास होता है, जिसमे बहूत बार आपके पसंदीदा क्षेत्र मे करियर के हिसाब से शिक्षा धारा का चयन करते है।प्रारंभिक से लेकर उच्च शिक्षा मे आजकल बहूत सारी नई चीजे शामिल हुई है, जिसमे छात्रो को सिखने लायक बहूत सारे विकल्प दिये गये होते है।

प्राथमिक शिक्षा के मुकाबले उच्च शिक्षा मे हमे कक्षा दसवी के बाद ढेर सारे विकल्प मे से एक तय शिक्षा धारा का चयन कर आगे बढना होता है।मुख्य शिक्षा धारा मे अंतर्निहित जैसे के कला, विज्ञान और वाणिज्य इत्यादी मे भी विभिन्न विकल्प मौजूद होते है।बहूत बार सही शिक्षा धारा का चयन ना करने की वजह से भी बहूत सारे छात्र शिक्षा के पथ से भटके हुये दिखाई पडते है। इसी विषय को ध्यान मे रखते हुये ये खास लेख के माध्यम से यहा आपको एक महत्वपूर्ण कोर्स की जानकारी देनेवाले है।

उच्च शिक्षा मे मास्टर की डिग्री हेतू एम.सी.ए कोर्स की जानकारी यहा हम देनेवाले है, जिसे पढने के बाद अगर आप इस कोर्स हेतू प्रवेश लेने की सोच रहे है तो अवश्य आपको लाभ होगा। तथा आपके मनमे इस डिग्री के विषय मे कोई संभ्रम हो तो उसका समाधान भी हो पायेगा।

एम.सी.ए का फुल क्या होता है?

एम.सी.ए एक मास्टर स्तर की डिग्री होती है जिसका फुल फॉर्म मास्टर ऑफ कंप्यूटर ऍप्लिकेशन्स होता है। मुख्यतः जिन छात्रो ने बैचलर ऑफ कम्प्युटर अप्लिकेशन्स से स्नातक स्तर की शिक्षा पुरी की हुई रहती है,उनके लिये मास्टर डिग्री के लिये एम.सी.ए एक अच्छा विकल्प होता है।

mca kya h

इस शिक्षा क्रम मे मुख्यतः कम्प्युटर से जुडे विषयो के माध्यम से छात्रो को शिक्षा प्रदान की जाती है। जिसमे जिन छात्रो का झुकाव इस विषय के तरफ होता है उनके लिये सुनहरे भविष्य के हेतू इस शिक्षा क्रम का चयन करना फायदेमंद साबित होता है।

Bca की फीस कितनी है?

बात करे इस शिक्षाक्रम से जुडे शुल्क की तो ये पूर्णतः आपके महाविद्यालय के चयन पर निर्भर होता है।अगर आप निजी संस्था या महाविद्यालय से इस शिक्षाक्रम पुरा करना चाहते है, तो आपको लगभग २ लाख तक का खर्च आता है,जो की महाविद्यालय के स्तर एवं मानक अनुसार तय होता है।

वही अगर आप किसी सार्वजनिक महाविद्यालय के अंतर्गत इस शिक्षा क्रम को करते है तो लगभग ३० हजार तक के शुल्क मे आप इस कोर्स को पुरा कर सकते हो।

यहा एक बात समझना महत्वपूर्ण हो जाता है के जो छात्र घरसे दूर किसी अन्य शहर मे इस शिक्षा क्रम को पुरा करने हेतू जाते है तो उनके अन्य खर्च अलग से यहा जुड जाते है।

MCA कितने साल का होता है?

मुख्य तौर पर इस शिक्षाक्रम की तय अवधी ३ साल की होती है,जिसमे ६ सेमिस्टर होते है।यहा पर ये चीज प्रमुखता से समझना आवश्यक है के अखिल भारतीय तकनिकी शिक्षा परिषद (AICTE) द्वारा इस शिक्षाक्रम का अवधी साल २०२०-२०२१ से २ साल का निर्धारित किया गया है।जिसमे बी.सी.ए के अलावा सभी बैचलर डिग्री जैसे के बी.एस.सी, बी.ए इनके लिये सिर्फ दो साल के मास्टर डिग्री एम.सी.ए का प्रावधान किया गया है।

इससे जुडी अधिक जानकारी आपको नये २ साल के सिलेबस के साथ देने का हमारा प्रयास रहेगा, इस आर्टिकल मे आपको तीन साल का सिलेबस दे रहे है, इन चीजो को आपको यहा समझ लेना है।

एमसीए कौन कर सकता है?

अखिल भारतीय तकनिकी शिक्षा परिषद( AICTE )के दिशानिर्देश अनुसार इस शिक्षा क्रम मे प्रवेश हेतू मुख्य पात्रता होती है,जिसमे बी.सी.ए/ बी.एस.सी/ बी.कॉम/बी.ए इत्यादी स्नातक या ग्रेज्यूएशन स्तर की शिक्षा उत्तीर्ण हुये छात्र ही पात्र माने जाते है। यहा कुल अंक औसतन ५० से ६० प्रतिशत होना आवश्यक होता है।

यहा अन्य महत्वपूर्ण चीज ये होती है के स्नातक उत्तीर्ण छात्रो ने या तो कक्षा १२ वी मे या फिर स्नातक की शिक्षा के दौरान गणित विषय उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है,फिर वो किसी भी धारा से स्नातक किये हो, ये भेद नही होता।

हालाकि कुछ महाविद्यालय मे सभी दिशानिर्देश लागू नही होते, पर आपको यहा आवश्यक चीजे जानकारी हेतू निर्देशित करके देने का हमारा प्रयास है।

एम.सी. ए मे प्रवेश हेतू बहूत सारे महाविद्यालय पूर्व पात्रता परीक्षा के अंको द्वारा छात्रो का चयन करते है, जिसमे कुछ पात्रता परीक्षा जैसे बी.एच. यु पी.ई.टी (BHU PET), सी.मॅट (CMAT), एन .आई. एम. सी.सी.ई.टी (NIMCET),आई.पी.यु सी.ई.टी (IPU CET), यु.पी.एस.ई.ई (UPSEE),एम.एच सी.ई.टी (MH CET- MCA) इत्यादी शामिल होती है।

एम.सी.ए की प्रवेश प्रक्रिया 

जैसा के इस शिक्षाक्रम मे प्रवेश हेतू पूर्व पात्रता परीक्षा ली जाती है, इसलिये पात्रता परीक्षा के अंतिम परिणाम आने के बाद महाविद्यालयो और युनिवर्सिटी मे प्रवेश हेतू प्रक्रिया शुरू हो जाती है। जिसमे प्राप्त अंको के आधार पर छात्रो की मेरीट लिस्ट जारी की जाती है, जिसमे अच्छे अंक प्राप्त छात्रो को प्रवेश हेतू महविद्यालय चुनने का विकल्प होता है। या फिर इस तरह के अंक प्राप्त छात्र उनके पसंद के महाविद्यालय मे दाखिला ले सकते है।

जिन छात्रो को कम अंक होते है, या फिर जिनका नाम मेरीट लिस्ट मे नही आता उन्हे या तो प्रतीक्षा करना पडता है।या फिर अन्य महाविद्यालय मे दाखिला लेना होता है जहा उन्हे प्रवेश के लिये स्वीकृती मिलती है।

MCA में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

१. एम.एच सी.ई.टी (MH- CET) – MCA

परीक्षा पेपर का माध्यम – अंग्रेजी।

परीक्षा का कुल समय – ९० मिनट।

गलत उत्तर के लिये अंक कटौती :- हर गलत उत्तर के लिये सही उत्तर के अंक मे से आधे अंक की कटौती।

परीक्षा का प्रारूप :- बहुविकल्पिय प्रश्न से सही विकल्प चुनना।

१. मैथमेटिक्स अँड स्टैटिस्टिक्स:- कुल प्रश्न – ३०, कुल अंक – ६०

अलजेब्रा

को- ऑर्डिनेट जॉमेट्री

डिफरेंशियल इक्वेशन

ट्रिग्नोमेट्री

प्रोबेबिलिटी अँड स्टैटिस्टिक्स

अरिथमेटिक्स

बेसिक सेट थ्योरी एंड फंक्शन्स

मेंसुरेशन

२. लॉजिकल/ एब्स्ट्रैक्ट रीजनिंग :- कुल प्रश्न – ३०, कुल अंक – ६०

सीटिंग अरेंजमेंटस

पझल्सबहुविकल्पिय प्रश्न से सही विकल्प चुनना

ब्लड रिलेशन्स

सेट्स बेस्ड ऑन ग्रुपिंग एंड पैटर्न

मैपिंग एंड बेस्ट रूट

डाटा सफिसिएन्सी इत्यादी।

३. कंप्यूटर कॉन्सेप्ट :- कुल प्रश्न – २०, कुल अंक – ४०

कंप्यूटर बेसिक

डाटा रिप्रेज़ेंटेशन

बाइनरी अरिथमेटिक

कंप्यूटर आर्किटेक्चर

कंप्यूटर लैंग्वेज

ऑपरेटिंग सिस्टम्स बेसिक्स

४. इंग्लिश कॉम्प्रिहेंशन अँड वर्बल एबिलिटी :- कुल प्रश्न – २०, कुल अंक – ४०

बेसिक इंग्लिश ग्रामर

वोकैब्यूलरी

कॉम्प्रिहेंशन

समरी राइटिंग

सिनोनिम्स एंड अनोनिमस

ऑर्डरिंग ऑफ़ सेंटेंस

पैरा जंबल्स

इस तरह इस पात्रता परीक्षा मे कुल प्रश्न संख्या १०० होती है जिन्हे कुल २०० अंक होते है। महाराष्ट्र मे इस परीक्षा आयोजन होता है जिसे उत्तीर्ण कर छात्र एम.सी.ए के लिये पात्र माने होते है।

मुक्त शिक्षा के अंतर्गत आनेवाले कॉलेज एवं युनिवर्सिटी 

  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त शिक्षा युनिवर्सिटी
  • यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र मुक्त शिक्षा युनिवर्सिटी
  • अन्नामलाई युनिवर्सिटी
  • युनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली
  • हिमाचल प्रदेश युनिवर्सिटी
  • कर्नाटका स्टेट मुक्त शिक्षा युनिवर्सिटी
  • नेताजी सुभाष मुक्त शिक्षा युनिवर्सिटी
  • मद्रास युनिवर्सिटी
  • आंध्रा युनिवर्सिटी
  • ओस्मानिया युनिवर्सिटी, इत्यादी

 

इन युनिवर्सिटी के अलावा अन्य भी कई मुक्त शिक्षा व्यवस्था के अंतर्गत एम.सी.ए शिक्षाक्रम उपलब्ध कारानेवाले युनिवर्सिटी मौजूद है, जिनके अंतर्गत आप इस शिक्षाक्रम का चुनाव कर शिक्षा प्राप्त कर सकते हो।

एम.सी.ए शिक्षाक्रम के बाद रोजगार के अवसर

जैसा के आप जानते है के एम.सी.ए एक मास्टर डिग्री होती है, जिसे पुरा करने के बाद विभिन्न निजी क्षेत्रो मे एवं सार्वजनिक क्षेत्र के तकनिकी विभागो मे नौकरी के अवसर उपलब्ध होते है। ईसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर हम यहा आपको जानकारी देनेवाले है।

कुछ प्रमुख पद जिनके उपर काम करने के लिये एम.सी.ए उत्तीर्ण छात्र चयनित किये जाते है, जैसे के;

  • ऍप डेवलपर
  • बिजनेस एनालिस्ट
  • हार्डवेअर इंजिनियर
  • वेब डिजाईनर / वेब डेवलपर
  • एथिकल हैकर
  • मैन्यूअल टेस्टर
  • टेक्नीकल राईटर
  • सोशल मिडिया हैंडलर इत्यादी

 

कुछ प्रमुख निजी एवं सरकारी कंपनीया जहा एम.सी.ए के बाद छात्रो को रोजगार मिल पाते है ,जैसे के

  • विप्रो सिस्टिम्स
  • पोलारिस
  • भेल (BHEL – भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड)
  • एच.सी.एल टेक्नोलॉजीस
  • आई.बी.एम
  • टेक्सास इंस्ट्रूमेंट
  • एन.टी.पी.सी
  • ओरेकल
  • माइक्रोसॉफ्ट
  • महिंदा
  • इत्यादी।

 

एम.सी.ए शिक्षाक्रम को पुरा करने के बाद सैलरी 

जैसा के इस शिक्षाक्रम को पुरा करने के बाद निजी एवं सार्वजनिक दोनो भी क्षेत्र मे रोजगार के अवसर उपलब्ध होते है, इस स्थिती मे रोजगार क्षेत्र एवं पद के अनुसार सैलरी होती है। उदाहरण के तौर पर कुछ पद अनुसार सैलरी का विवरण निचे दिया गया है।

सॉफ्टवेयर डेवलपर – लगभग ५ लाख तक सालाना सैलरी शुरुवात मे इस पद के लिये होती है।

हार्डवेअर इंजिनियर – तकरिबन ४ लाख सालाना।

मोबाईल एप्प डेवलपर – सालाना साढे चार लाख तक सैलरी इस पद के लिये होती है।

सिस्टम एनालिस्ट – इस पद के लिये साढे छह लाख तक का सालाना पैकेज दिया जाता है।

वेब डेवलपर – लगभग सालाना ३ लाख तक का पैकेज इस पद के लिये होता है।

इत्यादी पदो के लिये सैलरी का विवरण आपने पढा, अन्य भी कई पदो पर आकर्षक सैलरी के साथ रोजगार विकल्प इस शिक्षाक्रम के बाद छात्रो को मिल जाते है।

इस तरह आपने अब तक एम.सी.ए शिक्षाक्रम की विस्तारपूर्वक जानकारी पढी जिसमे लगभग सभी प्रमुख मुद्दो को आपने पढा, आशा करते है दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। तथा आपको भविष्य मे इस शिक्षाक्रम का चयन करना हो तो ये जानकारी आपके लिये लाभदायक सिद्ध होगी। अधिक विषयो के बारे मे जानना हो तथा करियर संबंधी जानकारी के लिये हमारे अन्य महत्वपूर्ण लेख अवश्य पढे, हमसे जुडे रहने के लिये धन्यवाद।…………..

इस विषय पर अधिकतर बार पुछे गये सवाल – FAQ

१. मैने कला शिक्षा धारा से स्नातक की शिक्षा पुरी की है, क्या मै एम.सी.ए के लिये प्रवेश ले सकता हु?

जवाब: अगर कला शिक्षा धारा मे स्नातक के दौरान या फिर कक्षा १२ वी मे गणित विषय आपने उत्तीर्ण किया हो तो, एकमात्र इस स्थिती मे ही आपको एम.सी.ए के लिये प्रवेश दिया जा सकता है।

२. एम.सी.ए कौनसे स्तर की डिग्री होती है?

जवाब: मास्टर स्तर या पोस्ट ग्रेज्यूएट स्तर की।

३. क्या एम.सी.ए मे प्रवेश हेतू पूर्व मे लिये जानेवाली पात्रता परीक्षा देना अनिवार्य होता है?

जवाब: हा।

४. एम.सी. ए का शिक्षा शुल्क कितना होता है?

जवाब: तीस हजार से लेकर २ लाख तक का शिक्षा शुल्क एम.सी.ए का होता है, जो के आपके निजी एवं सार्वजनिक महाविद्यालय के चयन पर निर्भर करता है।

५. क्या एम.सी.ए करने के बाद सार्वजनिक क्षेत्र मे नौकरी मिल सकती है?

जवाब: हा।

६. क्या एम.सी.ए मे प्रवेश के लिये गणित विषय से उत्तीर्ण होना अनिवार्य होता है?

जवाब: हा।

७. एम.सी.ए का फुल फॉर्म क्या होता है?

जवाब: मास्टर ऑफ कम्प्युटर अप्लिकेशन्स

८. मुझे मुक्त शिक्षा व्यवस्था (Distance Education)के अंतर्गत युनिवर्सिटी से एम.सी.ए की शिक्षा लेना हो तो क्या ये संभव है?

जवाब: हा।

९. महाविद्यालय के अलावा क्या मै किसी युनिवर्सिटी मे सिधे तरीके से एम.सी.ए के लिये दाखिला ले सकता हु क्या?

जवाब: हा।

१०. एम.सी.ए के लिये प्रवेश हेतू लिये जाने वाले पात्रता परीक्षा का प्रारूप क्या होता है?

जवाब: यह एक बहुविकल्पीय प्रश्न की परीक्षा होती है, जिसमे दिये गये चार विकल्पो मे एक सही विकल्प का चयन करना होता है।

PGDM कोर्स क्या है और कैसे करे?

इनकम टैक्स ऑफिसर कैसे बने 

company secretary course

College Professor कैसे बने?

bsc nursing course

मेडिकल के प्रमुख कोर्स M.B.B.S की संपूर्ण जानकारी

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular