Thursday, August 18, 2022
HomeCareerपटवारी कैसे बने? | Patwari Kaise Bane

पटवारी कैसे बने? | Patwari Kaise Bane

Patwari Kaise Bane:- पटवारी (Patwari) जिसे ‘लेखपाल’ के नाम जाना जाता है राजस्व विभाग का एक अधिकारी होता है। इस पद पर नियुक्त व्यक्ति की नियुक्ति गाँवों में की जाती है। भारत मे पंचायत राज व्यवस्था के अंतर्गत ग्रामीण विभाग तथा तालुका स्तर पर राजस्व पद्धती को लागू तथा नियंत्रित करने हेतू बुनियादी बदलाव किए गए। ग्रामीण विभाग मे कृषीभूमी तथा अन्य भूमीयो संबंधी व्यवहार का हिसाब किताब रखने के लिए प्रत्येक राज्य सरकार के अंतर्गत सरकारी अधिकारी नियुक्त किया गया होता है जिसे ‘पटवारी’ कहाँ जाता है।

यदि आप भी पटवारी बनाना चाहते है तो इस लेख में हम आपको Patwari Kaise Bane व पटवारी बनने के लिए क्या-क्या पढ़ना पढ़ता है यह पूरी पटवारी की जानकारी देंगे बस लेख को पूरा जरूर पढ़े।

जो छात्र नए-नए सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे होते है उनके मन में पटवारी क्या होता है, पटवारी कैसे बना जाता है, पटवारी के लिए योग्यता एवं पटवारी की तैयारी कैसे करे, ऐसे कई सारे प्रश्न आते है।

इसीलिए हमने सोचा कि क्यों न इस पर एक लेख बनाया जाये और उसमें आपको पटवारी कैसे बने (How to Become Patwari in Hindi) की पूरी जानकारी जैसे- पटवारी भर्ती के लिए शैक्षणिक योग्यता (Patwari Ke Liye Qualification 2022), पटवारी बनने के लिए कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए एवं पटवारी बनने के लिए क्या करना पड़ता है आदि प्रदान करे।

Patwari Kaise Bane

Patwari Kaise Bane – प्रत्येक राज्यों में पटवारी के रूप में चयन एक विशेष परीक्षा के माध्यम से किया जाता है। यह लिखित परीक्षा (Written Exam) कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन मोड़ में आयोजित की जाती है। लिखित परीक्षा में 5 सेक्शंस होते है; जनरल नॉलेज, क्वांटिटेटिव एप्टीटुड, हिंदी, पंचायतीराज सिस्टम, और कंप्यूटर आदि। परीक्षा का पूरा पेपर 100 अंकों का होता है। लिखित परीक्षा में उम्मीदवारों द्वारा प्राप्त किये गए अंकों के आधार पर एक मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है और फिर उसे राज्य की आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित की जाती है। जिन उम्मदीवारों का नाम मेरिट लिस्ट में होता है उन्हें डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के बाद ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है।

क्या होता है पटवारी?

भारत के विभिन्न राज्यो मे मौजूद ग्रामीण विभाग मे प्रशासन व्यवस्था को लागू करने के लिए विभिन्न विभागो के अंतर्गत कार्य पुरे किए जाते है। वैसे तो ग्रामीण विभाग के अधिकतर कार्य ग्राम प्रशासन/ग्रामपंचायत के अधीन होते है, पर राज्य सरकार के राजस्व विभाग से संबंधित कार्यो को पुरा करने हेतू एक या एक से ज्यादा गावो हेतू एक पटवारी नियुक्त किया जाता है।

पटवारी राज्य सरकार का वर्ग सी का पद होता है जो गावो के भूमी संबंधी हिसाब किताब रखना, जमीन की खरीद-बिक्री से संबंधित व्यवहार का रिकॉर्ड रखना, राजस्व से संबंधी सूचना जारी करना तथा इसे वसुलना, आय प्रमाणपत्र देना आदि कार्य करता है।

भारत मे वैसे तो शेरशाह सुरी के काल से पटवारी के तौर पर कार्य करनेवाले व्यक्ती मौजुद थे, पर उस समय काल मे इस पद का नाम अलग हुआ करता था। भारत मे पंचायत राज लागू होने के बाद पटवारी पद और इसके कार्यक्षेत्र के दायरे मे काफी सारी बदलाव हुए।

पटवारी की पूरी जानकारी एक नज़र में:

आयोजित परीक्षा का नाम  पटवारी
परीक्षा का माध्यम ऑनलाइन
भर्ती निकाय राज्य सरकार
परीक्षा का प्रकार राज्य स्तर की परीक्षा
योग्यता भारतीय नागरिकता और ग्रेजुएट, 12वीं, 10वीं
वेतनमान 5200 रु. – 20,200 रु. प्रति माह

पटवारी पद के लिए आवश्यक पात्रता – Eligibility for Patwari

जैसा के संपूर्ण भारत मे विभिन्न राज्यो मे पटवारी पद हेतू आवश्यक पात्रताओ मे कुछ हद तक अंतर देखने को मिल जाता है, यहाँ निम्नलिखित तौर पर ऐसेही कुछ पात्रता मानदंडो की जानकारी दी गई है जो के इस प्रकार से है –

जो सभी उम्मिद्वार पटवारी पद के लिए आवेदन करना चाहते है, उन सभी ने अनिवार्य तौर पर स्नातक/बैचलर डिग्री को किसी भी शिक्षा धारा से उत्तीर्ण करना अनिवार्य बन जाता है। कुछ समय पहले तक इस पद हेतू न्यूनतम शिक्षा पात्रता कक्षा १२ वी को उत्तीर्ण करना आवश्यक था, पर अब बहुत से राज्यो मे स्नातक परीक्षा को उत्तीर्ण करना आवश्यक माना जाता है।

सभी इच्छुक उम्मिद्वार ने न्यूनतम एक साल का कंप्यूटर डिप्लोमा उत्तीर्ण किया होना चाहिए, कुछ राज्यो मे प्रशासन द्वारा कंप्यूटर से संबंधित मान्यताप्राप्त कोर्स को उत्तीर्ण करना अनिवार्य किया गया होता है। यहाँ पर जिन छात्रो ने कंप्यूटर से जुडे शिक्षाक्रम जैसे के बी.सी.ए, बी.एस.सी इन कंप्यूटर इत्यादि मे स्नातक परीक्षा को उत्तीर्ण किया होता है, उन्हे किसी भी तरह के कंप्यूटर डिप्लोमा या अन्य कोर्स को पुरा करने की आवश्यकता नही होती।मतलब के ऐसे उम्मिद्वार को छुट प्रदान की गई होती है।

पटवारी के लिए आवेदन करते समय उम्मिद्वार की न्यूनतम आयु १८ साल से लेकर अधिकतम ४० साल तक होना आवश्यक होता है, हालाकि भारतीय संविधान द्वारा तय किया गया जातिगत आरक्षण प्रत्येक राज्य मे लागू किया गया होता है, जिसके अनुसार विशिष्ट जातिगत वर्ग श्रेणी मे आनेवाले उम्मिद्वार को आयु सीमा मे छुट प्रदान की जाती है।

पटवारी परीक्षा को कौन आयोजित करता है? 

जैसा के भारत मे विभिन्न राज्यो के अंतर्गत कई सारे जिले मौजूद होते है, इन सभी जिलो के अंतर्गत बडी संख्या मे ग्रामीण विभाग/गाव मौजूद होते है, बहुत बार एक से ज्यादा छोटे गाव समूह के लिए एक पटवारी नियुक्त किया जाता है।

आपको बता दे ऐसे गाव के समूह को ‘साजा’ कहाँ जाता है, ऐसा ही कुछ शब्द प्रयोग पटवारी के दफ्तर को दिया गया होता है जिसे आम भाषा में ‘साजा’ नामसे बुलाया जाता है।

प्रत्येक राज्य के जिलो मे ‘जिला चयन समिती’ के अंतर्गत पटवारी पद हेतू भर्ती प्रक्रिया पुरी की जाती है, जिसको संबंधित जिले के जिला अधिकारी के नियंत्रण तथा देखरेख में संपन्न किया जाता है।

हालाकि भारत के विभिन्न राज्यो मे इस प्रक्रिया मे थोडा बहुत अंतर देखने को मिल सकता है, जैसे के कुछ राज्यो मे स्वतंत्र बोर्ड/समिती द्वारा पटवारी पदो की चयन प्रक्रिया पुरी की जाती है।

आप जिस भी राज्य तथा जिले के निवासी है, उस क्षेत्र के अंतर्गत आनेवाले पटवारी भर्ती संबंधी जानकारी को आप संबंधित राज्य या जिले के आधिकारिक वेबसाईट को भेंट देकर प्राप्त कर सकते है। इससे संबंधी विज्ञापन को पढना तथा उपलब्ध स्त्रोत की मदद से आवेदन करना आपके लिए उचित बन जाता है।

पटवारी परीक्षा पाठ्यक्रम | Syllabus of Patwari Exam

निम्नलिखित तौर पर पटवारी परीक्षा का पाठ्यक्रम दिया हुआ है, जिसे पढने के बाद आपको इस परीक्षा को समजने मे आसानी होगी, जो के इस प्रकार से है –

ग्राम समाज और विकास:- ग्राम प्रबंधन, ग्राम विकास कार्यक्रम, ग्राम स्वास्थ्य योजनाए, ग्राम समाज, ग्राम विकास अनुसंधान और परियोजनाए इत्यादी ..

गणित:- द्विघात समीकरण, लघुत्तम समापवर्तक, महत्तम समापवर्तक, कारक, त्रिभुज और पाइथागोरस प्रमेय, सर्कल, आयत इत्यादी..

सामान्य ज्ञान:- १. भारतीय इतिहास – भारतीय राष्ट्रवाद, स्वतंत्रता आंदोलन, भारत का वित्तीय,सामाजिक, धार्मिक तथा राजनैतिक इतिहास। २. आर्थिक, सामाजिक, जन सांख्यिकी, भौतिक या परीस्थीतिकी संबंधी भारत और विश्व का भूगोल इत्यादी ३. अर्थशास्त्र, भारतीय प्रशासन व्यवस्था/ भारतीय राजनीतीशास्त्र, आंतरराष्ट्रीय महत्वपूर्ण मुद्दे इत्यादी..

सामान्य हिंदी (यहाँ पर राज्य अनुसार भाषा विषय मे बदलाव होता है, जैसे के हिंदी के जगह पर मराठी, कन्नड, मलयालम, तेलगु, गुजराती इत्यादी.. ) :- वचन, काल, अलंकार, मुहावरे, संधीया, वाक्यांशो हेतू शब्द इत्यादी..

Patwari Exam Pattern In Hindi

जैसा कि हम पहले ही चर्चा कर चुके है की MP पटवारी के लिए चयन लिखित परीक्षा के आधार पर किया जाता है। जिन उम्मीदवारों का नाम अंतिम मेरिट लिस्ट में होता है उन्हें फिर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाता है। पटवारी चयन परीक्षा में हिन्दी, अंग्रेजी सहित कुल 5 विषयों का पेपर होता हैं जो इस प्रकार है –

सेक्शंस कुल प्रश्न कुल अंक समय
हिन्दी (Hindi) 20 20 2 घंटा
गणित (Mathematics) 20 20
कंप्यूटर (Computer) 20 20
सामान्य ज्ञान एवं सामयिकी (General Knowledge & Current Affairs) 20 20
पंचायतीराज प्रणाली (Panchayat System) 20 20
कुल 100 प्रश्न 100 अंक

नोट:- परीक्षा में किसी प्रकार की कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं है 

उपरोक्त पांचों विषयों के लिये कुल 100 अंकों के प्रश्‍नों को सम्मिलित किया जाता है। यानि कुल 100 वैकल्पिक प्रश्न होते है जिन्हे आपको 2 घंटे में हल करना होता है।

पटवारी परीक्षा की तैयारी हेतू आवश्यक किताबे – Books For Patwari Exam

मध्य प्रदेश पटवारी चयन परीक्षा – अरिहंत

पंजाब पटवारी – अरिहंत

राय(राजस्थान) पटवारी

हिमाचल प्रदेश पटवारी परीक्षा – आर. गुप्ता

गरुड प्रकाशन – पटवारी

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग पटवारी परीक्षा – आर.गुप्ता

महाराष्ट्र पटवारी (तलाठी) प्रश्नपत्र – के. सागर

छत्तीसगढ पटवारी भर्ती परीक्षा – अरिहंत, इत्यादी…

इस तरह से अबतक आपने पटवारी से जुडी विभिन्न पह्लूओ की जानकारी को जाना, जिसमे सभी आवश्यक बातो को हमने आपके सामने रखा।

Patwari Ki Taiyari Kaise Kare

पटवारी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए आप निम्नलिखित युक्तियों पर एक नज़र डाल सकते है जो आपकी परीक्षा की तैयारी मदद करने में आपके लिए फायदेमंद साबित होगी।

किसी भी परीक्षा की तैयारी करने से पहले आपको कई बातों का ध्यान रखना पड़ता हैं उनमें से दो मुख्य बातें पता होना अति आवश्यक है; परीक्षा का प्रारूप (Exam Pattern of Exam) और परीक्षा का पाठ्यक्रम (Syllabus of Exam)।

पिछले साल के पेपर को हल करें, इससे आपको परीक्षा पैटर्न, अंक आवंटन और महत्वपूर्ण विषयों के बारे में जानकारी प्राप्त होगी।

वीकली मॉक टेस्ट देने की कोशिश करें। इससे आपको अपनी तैयारी का बेहतर विश्लेषण करने में मदद मिलती है और आप पेपर के लिए टाइम मैनेजमेंट करना सीखते है।

पटवारी परीक्षा के पुरे सिलेबस को ध्यानपूर्वक पढ़े, और उसी के हिसाब से अपनी तैयारी करें।

पटवारी के प्रमुख कार्य – Work of Patwari

यहाँ हम आपका परिचय कराएंगे पटवारी के उन सभी कार्यो से, जो के इस पद पर नियुक्त व्यक्ती को अनिवार्य तौर पर करने होते है, जिसमे शामिल है –

जिस भी स्थान/क्षेत्र मे पटवारी नियुक्त किया गया होता है, उस स्थान की जानकारी समय समय पर सरकार को भेजने की जिम्मेदारी इस पद पर कार्य करनेवाले व्यक्ती की होती है।

आय तथा जाती के प्रमाणपत्र बनवाना।

कृषी भूमी संबंधी क्षेत्रफल और नक्शे इत्यादी का रिकॉर्ड रखना।

गाव मे किसी भी तरह से निर्मित हुई आपदा की जानकारी सरकार को देना तथा मौजुदा हालात से सरकार को अवगत कराना।

कार्यक्षेत्र के अंतर्गत आनेवाली कृषी भूमी तथा लोगो के निवास हेतू भूमी की संपूर्ण जानकारी रखना।

किसी भी प्रकार के भूमी से संबंधित खरीद -बिक्री से जुडी बातो का हिसाब किताब रखना।

गाव के किसी भी विवादित जमीन को सही तरीके से नापने मे मदद करना।

किसानो को फसल बिमा का लाभ पहुचाने हेतू सहायता करना।

गाव मे मौजूद खनन से संबंधी नैसर्गिक संपदा पर ध्यान रखना एवं उससे जुडी जानकारी सरकार को देना।

उपरोक्त सभी आवश्यक कर्तव्यो का निर्वाह्न पटवारी पद पर कार्य करनेवाले व्यक्ती को करना होता है, जिसे हम पटवारी के अनिवार्य कार्य भी कह सकते है।

Patwari Ki Bharti 2022-23

पटवारी राज्य सरकार का एक अधिकारी होता है। पटवारी के रिक्त पदों को भरने के लिए प्रत्येक राज्य सरकार द्वारा इसकी भर्ती का आयोजन किया जाता है। अगर आपको पटवारी भर्ती में शामिल होना है तो सबसे पहले आपको अपने राज्य की ऑफिसियल वेबसाइट पर ऑनलाइन पता करना होगा।

पटवारी भर्ती आने पर आपको इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। उसके बाद इसकी परीक्षा होगी और उसके कुछ समय बाद इसका परिणाम घोषित कर दिया जाएगा।

दोस्तों, पटवारी बनने के लिए अभ्यर्थी को लिखित परीक्षा देनी पड़ती हैं। पहले इसमें इंटरव्यू भी लिया जाता था। वर्तमान समय में इंटरव्यू को हटा दिया गया है।

अक्सर कई विद्यार्थियों के मन मे ये सवाल होता है कि Patwari Banne Ke Liye Kitne Percentage Chahiye? हम आपको बता दे कि पटवारी बनने के लिए आपको 100 अंकों के पेपर में कम से कम 80 अंक यानी 80% हासिल करना होगा।

MP पटवारी भर्ती 2022 ऑनलाइन आवेदन करें

मध्यप्रदेश पटवारी भर्ती का नोटिफिकेशन 2022 जल्द ही जारी होने की संभावना है जैसे ही इस भर्ती के लिए आधिकारिक अधिसूचना जारी की जाएगी उम्मीदवार उसे PEB (प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड) की ऑफिसियल वेबसाइट से प्राप्त कर सकते है। भर्ती के लिए सीधे आवेदन करने के लिए आपको नीचे बताई गयी इन स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले PEB की आधिकारिक वेबसाइट peb.mp.gov.in पर जाएं।
  • Exam Schedule विकल्प खोजें, जहां आपको पटवारी भर्ती 2021 के लिए सक्रिय आवेदन लिंक मिलेगी।
  • अगर आप पहली बार पीईबी की वेबसाइट पर आये है तो आपको इस पर अपने ईमेल और मोबाइल से रजिस्ट्रेशन करके रजिस्ट्रेशन नंबर जेनरेट करना होगा।
  • अब इस रजिस्ट्रेशन लिंक का उपयोग करके, एमपीपीईबी पटवारी 2021 परीक्षा के लिए आवेदन करें। और पूछी गयी जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करें।
  • फॉर्म को अच्छे से भरने के बाद उसे Submit करें, फिर भुगतान टैब के माध्यम से भुगतान प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ें।
  • भविष्य में उपयोग के लिए सबमिट किए गए फॉर्म और ई-चालान का प्रिंटआउट प्राप्त कर लें।

 

पटवारी भर्ती 2021-22 आवेदन के लिए शुल्क

पटवारी परीक्षा के लिए आवेदन शुल्क प्रत्येक श्रेणियों के उम्मीदवारों के लिए अलग-अलग होता है।

वर्ग फीस

जनरल 500 रुपये

SC/ST 250 रुपये

Patwari Ki Salary Kitni Hoti Hai

पटवारी का पद राज्य सरकार के अंतर्गत आता है। राज्य सरकार द्वारा पटवारी के पद के लिये वेतन 5,200/- रूपए से लेकर के 20,200/- रूपए निर्धारित किया गया है और इसमें कई प्रकार के भत्ते भी जोड़े जाते है।

हम आपको ये भी बताना चाहेंगे कि यह आंकड़ा पूर्ण स्पष्ट नही है यह हर राज्य के हिसाब से अलग-अलग हो सकता है। आशा करते है कि अब आपको पटवारी की सैलरी के विषय मे जानकारी प्राप्त हो गयी है।

 

पटवारी कैसे बने से जुड़े FAQs

Q. पटवारी पद हेतू आवश्यक शिक्षा पात्रता क्या होती है?

जवाब: किसी भी शिक्षा धारा से न्यूनतम स्नातक परीक्षा को उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है। कुछ राज्य मे शिक्षा पात्रता कक्षा १२ वी को उत्तीर्ण करना आवश्यक होता है।

Q. क्या पटवारी परीक्षा कठिन है?

जवाब: Patwari परीक्षा न तो ज्यादा कठिन और न ही बहुत सरल होती है। परीक्षा में सफल होने के लिए आपको उन सभी महत्वपूर्ण चीजों का अध्यन करने की आवश्यकता है जिससे आप परीक्षा को क्रैक कर सके। अपनी ताकत और कमजोरियों को समझने के लिए ऑनलाइन मॉक परीक्षा दें।

Q. राज्य सरकार के अंतर्गत पटवारी कौनसे वर्ग का अधिकारी होता है?

जवाब: वर्ग सी (Class C)

Q. पटवारी भर्ती सिलेबस 2021 क्या है?

जवाब: पटवारी की लिखित परीक्षा में 5 सेक्शंस होते है; सामान्य ज्ञान, मात्रात्मक योग्यता, हिंदी भाषा, ग्राम पंचायत प्रणाली और कंप्यूटर योग्यता आदि।

Q. क्या MP पटवारी के लिए 12वीं पास आवेदन कर सकते है?

जवाब: किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से स्नातक यानि ग्रेजुएशन की डिग्री वाले उम्मीदवार एमपी पटवारी परीक्षा 2021 के लिए आवेदन करने के पात्र है। साथ ही उम्मीदवार के पास हिंदी टाइपिंग और कंप्यूटर दक्षता के साथ CPCT स्कोरकार्ड होना चाहिए।

Q. क्या पटवारी परीक्षा में कोई नकारात्मक अंकन है?

जवाब: जी नहीं, पटवारी परीक्षा में कोई नकारात्मक अंकन नहीं है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular