Tuesday, August 9, 2022
HomeCareerpgdca course in hindi | P.G.D.C.A कोर्स से संबंधी संपूर्ण जानकारी

pgdca course in hindi | P.G.D.C.A कोर्स से संबंधी संपूर्ण जानकारी

pgdca course in hindi:- भारत ही नहीं बल्कि समूचे विश्व में कंप्यूटर से आधारित व्यक्तिगत एवं दफ्तर के कामो को पूरा किया जाता है, जिसने आज के युग के मानवी जिवन में गतिशीलता को प्रदान किया है। और समय के साथ इन सभी चिजो में बदलाव भी देखने को मिल रहे है जैसे के आज कंप्यूटर केवल मनोरंजन एवं दफ्तर के कामो तक सिमित नहीं है।

इसके विपरीत इसका परिवर्तन आसान लैपटॉप के रूप में हुआ है, जिसे हम कही भी लेकर जा सकते है। और विभिन्न प्रोग्राम्स की मदद से कार्य कर सकते है, पर ये तो हुई हार्डवेयर में बदलाव् की बात।

हम बात करना चाह रहे है कंप्यूटर के ढेर सारे प्रोग्राम्स या सॉफ्टवेयर की जिनके बलबूते कंप्यूटर से हम आवश्यकता अनुसार विभिन्न तरह के परिणाम रोज मर्रा की जिंदगी में प्राप्त कर रहे है।

हालाकि ये सभी प्रोग्राम्स विशिष्ट मकसद से तैयार किये हुए रहते है, जिनके अनेक प्रारूप होते है। और इन सारी चिजो को बनाने हेतु आवश्यक ज्ञान एवं प्रशिक्षण की भी जरुरत होती है।

pgdca course

आपको बता दे आजकल के शिक्षा व्यवस्था में इन सभी चिजो पर संपूर्ण ज्ञान प्रदान करने हेतु विशिष्ट प्रकार के शिक्षाक्रम भी उपलब्ध होते है। जिनमें इस क्षेत्र में इच्छुक व्यक्ती प्रवेश भी पा सकते है।

यहाँ हम आपको कंप्यूटर के क्षेत्र से जुड़े ऐसेही एक शिक्षाक्रम की जानकारी देने जा रहे है जिसे पी.जी.डी.सी.ए के नामसे सामान्य तौर पर जाना जाता है।

pgdca full form

pgdca full form पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन (Post Graduate Diploma in Computer Application) होता है। जो के स्नातकोत्तर शिक्षाक्रम होता है, जिसमे छात्रो को विशिष्ट प्रोग्राम्स को बनाने एवं उनके कार्यपालन संबंधी ज्ञान प्रदान किया जाता है।

उच्च स्तर के इस शिक्षाक्रम को पूरा करने के उपरांत आजके युग में रोजगार संबंधी अच्छी संभावनाए मौजूद होती है। जिसमे सुचना, जानकारी एवं प्रोद्योगिकी के क्षेत्र में इस शिक्षाक्रम को पूरा किये हुए लोगो को अच्छा खासा महत्व प्राप्त हुआ दिखाई पड़ता है।

आगे हम जानेंगे के इस शिक्षाक्रम का सही मायने में प्रारूप क्या होता है तथा इसके लिए आवश्यक पात्रताए क्या होती है इत्यादी।

PGDCA Kitne Saal ka Hota hai

सामान्य तौर पर इस कोर्स का अवधी एक साल का होता है, जिसमे सेमिस्टर पैटर्न के रूप में शिक्षाक्रम की संरचना की गई होती है।

इसका मतलब किसी भी छात्र को न्यूनतम एक साल का अवधी इस कोर्स हेतु देना अनिवार्य होता है। यहाँ आपके अधितकतर बार असफल होने से कोर्स के तय समय में बढ़ोतरी हो सकती है।

 

पीजीडीसीए की फीस कितनी है? – PGDCA ki fees kitni hai

संपूर्ण शिक्षाक्रम का तय शुल्क लगभग बीस हजार से लेकर एक लाख तक होता है, जिसमे छात्र को महाविद्यालय के चयन के अनुसार शिक्षा क्रम शुल्क में अंतर देखने को मिलता है।

जैसे के निजी महाविद्यालय की तुलना में सार्वजनिक महाविद्यालय में शिक्षा का शुल्क बहुत कम होता है।

पीजीडीसीए के लिए योग्यता

कुछ प्रमुख मापदंड़ो को पूरा करने वाले छात्र इस कोर्स में प्रवेश हेतु पात्र समझे जाते है,जैसे के

प्रवेश हेतु इच्छुक छात्र ने न्यूनतम ग्रेजुएशन या स्नातक स्तर की शिक्षा पूरी की होनी चाहिए, जिसमे ग्रेजुएशन के दौरान गणित विषय होना अनिवार्य होता है।

ग्रेजुएशन की डिग्री किसी भी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी या बोर्ड से उत्तीर्ण की होनी चाहिए।

पीजीडीसीए प्रवेश

आम तौर पर इस शिक्षा क्रम में प्रवेश हेतु किसी भी प्रकार के पात्रता परीक्षा की आवश्यकता नहीं होती, कुछ विशिष्ट महाविद्यालय ही इस प्रकार के पात्रता परीक्षा का आयोजन करते है।

इसलिए प्रवेश हेतु इच्छुक छात्र को ग्रेजुएशन के बाद इस शिक्षाक्रम हेतु संबंधित महाविद्यालय में आवेदन करना होता है।जिसमे प्राप्त अंको के आधार पर छात्रो की मेरिट लिस्ट संबंधित महाविद्यालय में जारी की जाती है।

इस स्थिती में अच्छे अंक प्राप्त छात्रो को प्रवेश तय निश्चित हो जाता है, वही स्नातक डिग्री में कम अंक पानेवाले छात्रो को या तो प्रतिक्षा सूचि में रहना होता है। या फिर अन्य महाविद्यालय के विकल्प तलाशने होते है।

हर साल देशभर में इस तरह की प्रवेश प्रक्रिया के माध्यम से छात्रो को इस कोर्स हेतु प्रवेश दिया जाता है, जिसमे सालाना लाखो की संख्या में छात्र दाखिला लेते है।

PGDCA Syllabus in Hindi

निचे हमने विस्तार से इस शिक्षाक्रम के पाठ्यक्रम की जानकारी दी है, जिसे पढने के बाद आपको इस शिक्षाक्रम मौजूद विषयो की जानकारी पाने में मदद मिलेगी।

(कोर्स अवधी – १ साल – सेमिस्टर पैटर्न)

सेमिस्टर- १(Semester -1 )

विषय – Subject

  • फंडामेंटल्स ऑफ़ इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी
  • प्रोग्रामिंग
  • प्रैक्टिकल वर्क
  • सॉफ्ट स्किल्स
  • ओरेकल
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग
  • बिजनेस प्रोसेस
  • वेब प्रोग्रामिंग

 

सेमिस्टर – २ (Semester- 2)

  • विजुअल बेसिक
  • प्रोजेक्ट
  • जावा
  • डेटा स्ट्रक्चर एंड अल्गोरिदम
  • पी.पी.एम् एंड ओ.बी
  • डी.बी.एम्.एस
  • प्रैक्टिकल वर्क

 

पीजीडीसीए कॉलेज

देशभर के कुछ प्रमुख एवं चर्चित महाविद्यालय तथा यूनिवर्सिटी का विवरण निम्नलिखित तौर पर दे रहे है, जहा आप इस कोर्स को पूरा करने के लिए प्रवेश ले सकते है। जैसा के;

जामिया मिलिया इस्लामिया – नई दिल्ली

प्रेस्टीजिअस इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड रिसर्च – इंदौर

लव्हली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी- जालंधर

निम्स युनिवर्सिटी(NIMS) – जयपुर

मद्रास क्रीस्टियन कॉलेज- चेन्नई

डी.ए.व्ही कॉलेज- चंडीगढ़

इग्न्यु(IGNOU) – नई दिल्ली

श्रीराम इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी – नई दिल्ली

वल्लभ गवर्नमेंट कॉलेज- मंडी

सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी- मणिपाल

उत्तराखंड ओपन युनिवर्सिटी – उत्तराखंड

जिवाजी यूनिवर्सिटी – ग्वालियर

करियर पॉइंट यूनिवर्सिटी- कोटा

वीर नर्मद साउथ गुजरात यूनिवर्सिटी- गुजरात

इंडियन स्टेटेस्टिकल यूनिवर्सिटी – कोलकता

डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी – आसाम

के.सी.ई सोसायटी मूलजी जेठा कॉलेज- जलगाँव

जे.एम् पटेल कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स,कॉमर्स एंड साइंस – भंडारा

डॉ. आंबेडकर इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड रिसर्च – नागपुर

छत्रपती शिवाजी महाराज यूनिवर्सिटी- मुंबई

मौलाना आजाद कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स,कॉमर्स एंड साइंस – औरंगाबाद

धनवते नेशनल कॉलेज – नागपुर

भारती विद्यापीठ यूनिवर्सिटी – पुणे

सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी – पुणे

छत्रपती शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी – कानपूर

तिलक महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी – पुणे

अंजुमन डिग्री कॉलेज एंड पीजी सेंटर – भटकल

सेंट जोसेफ कॉलेज – बैंगलोर

आई.टी.एम् युनिवर्सिटी – ग्वालियर

कर्नाटक यूनिवर्सिटी – धारवाड़

यूनिवर्सिटी ऑफ़ अलाहाबाद

गगन कॉलेज ऑफ़ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी – अलीगढ

स्कुल ऑफ़ कंप्यूटर साइंस एंड यूनिवर्सिटी – इंदौर

अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्वविद्यालय – भोपाल

अकैडमी ऑफ़ कंप्यूटर साइंस एंड टेक्नोलॉजी – जबलपुर, इत्यादि….

पीजीडीसीए के बाद कौन सा कोर्स करें?

इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप निम्नलिखित तौर पर दिए गए कोर्सेस हेतु प्रवेश प्राप्त कर सकते है, जैसा के;

पी.एच.डी – कंप्यूटर एप्लीकेशन

मास्टर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लीकेशन

डिप्लोमा इन वेब डिजाइनिंग

पीजीडीसीए के बाद करियर एवं सैलरी 

निचे दिए गए पदों पर आप इस कोर्स के पश्चात काम कर सकते है, जैसा के;

सॉफ्टवेयर डेवलपर

आई.टी सपोर्ट एनालिस्ट

एंड्राइड सॉफ्टवेयर डेवलपर

आई.टी कंसलटेंट

पी.एच.पी डेवलपर

कंप्यूटर सिस्टम एनालिस्ट

इन्फॉर्मेशन सिस्टम मैनेजर

प्रोजेक्ट मैनेजर

सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर, इत्यादि…

उपरोक्त दिए गए पदों पर काम करने वाले व्यक्तियों को सालाना लगभग २ लाख से लेकर १० लाख के बिच में सैलरी दी जाती है।जैसा के ये सभी पद निजी एंव सार्वजानिक दोनों भी क्षेत्र में मौजूद होते है,इसलिए पद एवं क्षेत्र अनुसार सैलरी तय की जाती है।

  P.G.D.C.A Course Q & A

१. मुझे पी.जी.डी.सी.ए कोर्स हेतु प्रवेश लेना है, क्या इसके लिए पात्रता परीक्षा (Entrance  Exam) देना अनिवार्य होता है?

जवाब: नहीं।

२. पी.जी.डी.सी.ए शिक्षाक्रम का अवधी कितना होता है?

जवाब: १ साल।

३. पी.जी.डी.सी.ए कोर्स में प्रवेश हेतु शिक्षा पात्रता क्या होती है?

जवाब: गणित विषय के साथ किसी भी शिक्षा धारा से स्नातक यानि के ग्रेजुएशन की परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य होता है।

४. मुझे पी.जी.डी.सी.ए का फुल फॉर्म बताइए की क्या होता है?

जवाब: पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन।

५. शिक्षाक्रम पी.जी.डी.सी.ए कोर्स की संरचना किस प्रकार की होती है?

जवाब: सेमिस्टर पैटर्न की।

६. पी.जी.डी.सी.ए शिक्षाक्रम कौनसे स्तर का होता है?

जवाब: पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा स्तर का।

७. पी.जी.डी.सी.ए शिक्षाक्रम के फायदे क्या होते है?

जवाब: इस कोर्स को करने से आप कंप्यूटर के क्षेत्र में काफी गहरा ज्ञान प्राप्त करते है,जिसकी बदौलत अकाउंट,बैंकिंग, वेब डेवलपमेंट,सॉफ्टवेयर निर्मिती इत्यादि क्षेत्रो में काम करने का मौका मिल जाता है।

८. क्या पी.जी.डी.सी.ए कोर्स को करने के बाद सार्वजनिक क्षेत्र में नौकरी मिल जाती है?

जवाब: हा।

९. क्या कला शाखा से उत्तीर्ण छात्र पी.जी.डी.सी.ए के लिए प्रवेश पा सकते है?

जवाब: हा, लेकिन ये तभी संभव होता है अगर आपने ग्रेज्युशन शिक्षा के दौरान गणित विषय से डिग्री हासिल की हो।

१०. क्या पी.जी.डी.सी.ए मास्टर डिग्री शिक्षाक्रम होता है?

जवाब: नहीं।

एल.एल.बी की संपूर्ण जानकारी

gnm course full details in hindi

P.G.D.C.A कोर्स से संबंधी संपूर्ण जानकारी

सीएमए (CMA) कोर्स की जानकारी 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular