एंबेसडर पहली बार 1957 में बिड़ला द्वारा निर्मित किया गया था। मध्यम वर्गीय परिवारों के लिए यह सबसे पसंदीदा कार होने के साथ-साथ एक किफायती कार भी थी।

एंबेसडर शब्द सुनकर भारतीयों के लिए बहुत सारी यादें ताजा हो जाती हैं। शानदार माइलेज के साथ, Ambassador भारतीय इतिहास में सबसे अधिक ईंधन कुशल कारों में से एक थी।

“हिंदुस्तान मोटर्स एंबेसडर एक बड़ी वापसी करने की राह पर है” या आप इसे “रिटर्न ऑफ द लीजेंडरी” भी कह सकते है।

हिंदुस्तान मोटर्स एंबेसडर 2.0 के इलेक्ट्रिक वेरियंट को  फ्रांसीसी ऑटोमोबाइल कंपनी प्यूज़ो के मिलकर भारत में लॉन्च करने जा रही है।

प्यूज़ो के साथ मिलकर यह संयुक्त रूप से इलेक्ट्रिक 2-व्हीलर्स को भी भारत में उतारेंगे।

नई एंबेसडर 2.0 का डिजाइन कुछ एंगल से पुरानी एंबेसडर की याद दिलाता है लेकिन फिर भी इसे काफी अनूठा और मॉर्डन लुक देता है।

देखना होगा यह मार्किट में कब तक आती है