शीघ्रपतन क्या होता है?

जब किसी पुरुष के न चाहते हुए भी संभोग के दौरान उसका वीर्य समय से पहले बहार निकल जाता है। तब उसे हम शीघ्रपतन कहते है।

साधारणतः एक पुरुष को कम से कम 5 से 6 मिनिट्स होल्ड करना चाहिए। लेकिन यदि वह चाहे तो 10 से 20 मिनिट्स भी वो होल्ड कर सके इतनी कैपेसिटी उसमे होनी चाहिए।

आज के समय में यह के प्रॉब्लम बहुत ही कॉमन होती जा रही है। यंग लोगों में यह प्रॉब्लम 60 से 80 % लोगों में पाई जाती है। शीघ्रपतन कोई बीमारी नहीं है। यह बहुत ही आसानी से ठीक की जा सकती है।

शीघ्रपतन के कारण

1. सबसे पहला कारण है हमारे मस्तिष्क में एक केमिकल होता है जिसे सिरोटोनिम कहा जाता है। इसके लेवल की कमी के कारण भी शीघ्रपतन होता है।

 दूसरा किसी किसी के पेनिस का फ्रंट पार्ट कुछ ज्यादा ही सेंस्टिव होता है इस कारण भी Shighrapatan होता है।

 तीसरा कारण यदि किसी को यूरिन इन्फ़ेक्सन की प्रॉब्लम है ,या कोई हॉर्मेन्स में कुछ गड़बड़ी है तो भी शीघ्रपतन होने लगता है।

चौथा जिसे कंडिशन इफेक्ट कहते है। इसमें होता क्या है की काम उम्र में जब ज्यादा जल्दी जल्दी हस्त मैथुन करने की हेबिट बन जाती है। तो यह आदत बनी ही रहती है और हमारा मस्तिष्क इसी हैबिट के कारण शीघ्रपतन की समस्या पैदा करता रहता है

पांचवा कारण मानसिक तनाव भी Shighrapatan के लिए जिम्मेदार हो सकता है

Shighrapatan ka ilaj

शीघ्रपतन का सबसे सस्ता और तुरंत इलाज अगर देखा जाए तो इस परेशानी का इलाज बाहरी न होकर घरेलू है । सबसे पहले आप अपनी जीवनशैली को बदलें और अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें । भोजन में ऐसी चीजों का इस्तेमाल करें, जो आपकी इस समस्या का निदान कर सकते हैं ।

शीघ्रपतन क्या होता है? इसके कारण और इलाज के बारे में काम शब्दों में बताया। यदि आप इस बारे में विस्तार से ज्यादा जानकारी चाहते है तो नीचे दिख हरे  learn more बटन पर क्लिक करें।